दादी माँ पर निबंध- Essay on Grandmother in Hindi

In this article, we are providing information about Grandmother in Hindi- Short Essay on Grandmother in Hindi Language. दादी माँ पर निबंध- Dadi Maa Essay in Hindi

दादी माँ पर निबंध- Essay on Grandmother in Hindi

Essay on Grandmother in Hindi

दादी माँ पर निबंध | Short Grandmother Essay in Hindi for kids ( 150 words )

सफ़ेद बाल, आँखों पर चश्मा और हँसता चेहरा – ये हैं मेरी दादी माँ।

दादी माँ रोज़ सुबहपाँच बजे उठ जाती हैं। भजन-पूजा पाठ करके वे घूमने जाती हैं और लौटकर अखबार पढ़ती हैं। जब वे मुझे स्कूल छोड़ने जाती हैं तब रास्ते में रोचक खबरें सुनाती जाती हैं।

दादी माँ एक समाज सेविका हैं। हर रोज़ काफ़ी लोग उनसे मिलने आते हैं। दादी माँ सदा सबकी मदद करती हैं। शाम का समय वे हमारे साथ बिताती हैं। वे मेरे साथ कभी-कभी खेलती भी हैं। घर के काम में भी दादी माँ मदद करती हैं।

दादी माँ सबको बहुत प्यार करती हैं। कभी-कभी वे हमें अपनी पसंद का खाना भी बनाकर खिलाती हैं। मैं दादी माँ के साथ ही सोता हूँ। दादी माँ मुझे रोज़ एक कहानी सुनाती हैं। मुझे मेरी दादी माँ बहुत अच्छी लगती हैं। मेरे सब दोस्तों को भी दादी माँ बहुत अच्छी लगती हैं। सब उनकी प्रशंसा करते हैं।

 

Essay on Grandmother in Hindi for students ( 300 words )

दादी माँ पर निबंध, Dadi Maa Par Nibandh

दादी माँ सभी को बहुत प्यारी होती है और बच्चे उनके दुलारे होते हैं। मेरी दादी माँ का नाम रोशनी देवी है और वर हमारे साथ हमारे घर में ही रहती है। उनकी आयु लगभग 70 वर्ष है लेकिन उनमें अभी भी बहुत हिम्मत है। वह माँ के साथ घर का काम भी करवा देती है। वह हम सबसे बहुत प्यार करती है और हमारे कहने पर हमारी पसंद के व्यंजन भी बना देती है। जब कभी वह कुछ दिनों के लिए चाचा के घर रहने चली जाती हैं तो घर सूना सूना लगने लगता है क्योंकि वह हमारे घर में सबसे वृद्ध है और बात पर हमें सही राह दिखाती हैं। वह हमें पापा से डाँट पड़ने से भी बचाती है। दादी माँ का स्वभाव बहुत ही विनम्र और खुशमिजाज हैं। उनके घरेलू नुस्खे हर बिमारी में असरदार होते हैं।

मेरी दादी माँ सुबह 5:30 बजे उठ जाती है और तैयार होकर मंदिर जाती है। उन्हें धर्म कर्म के कार्य में विशेष रूचि है। हर रोज शाम की चाय वहीं बनाती है और हमें उनके हाथ की चाय बहुत पसंद है। वह सुबह और शाम में घर में आरती करती है। वह हमें मेले लगने पर पैसे देती हैं और हमें घुमाने भी ले जाती है। वह शाम को अपनी महिला मंडली के साथ सैर करने भी जाती है और उनके साथ धार्मिक स्थलों पर भी भ्रमण करने जाती हैं।

दादी माँ छोटी छोटी बातों पर चिंता करती है और हमेशा परिवार की खुशी की दुआ करती हैं। वह हमें अच्छे बुरे का फर्क समझाती है और हमारे रिती रिवाजोम के बारे में बताती हैं। मेरी दादी माँ हमें अपनी जिंदगी सो जुड़े कई किस्से बताती हैं और रात को सोने से पहले कहानियाँ भी सुनाती है। मुझे मेरी दादी से बहुत प्यार है।

# My Grandmother Essay in Hindi for kids

Essay on My Father in Hindi

मेरा परिवार पर निबंध- My Family Essay in Hindi

माँ पर निबंध- Essay on Mother in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Essay on Grandmother in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

8 thoughts on “दादी माँ पर निबंध- Essay on Grandmother in Hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published.