सपने की व्याख्या अकबर बीरबल Story in Hindi

सपने की व्याख्या अकबर बीरबल Story in Hindi

एक दिन बादशाह अकबर दरबार में बड़ी गम्भीर मुद्रा में बैठे किसी समस्या पर विचार कर रहे थे। बादशाह के आसन के पास ही कुछ ज्योतिषी बैठे हुए मंत्रणा में लगे हुए थे। उनके चेहरों से भी तनाव झलक रहा था।

तभी, बीरबल ने दरबार में प्रवेश किया। वहाँ का दृश्य देखते ही वे समझ गए कि मामला कुछ गम्भीर है। बादशाह के पास पहुँचकर उन्होंने अभिवादन किया और पूछा, ‘जहांपनाह, बात क्या है? आज आप बड़े चिंतित दिखाई दे रहे हैं। आप मुझे बताइए। शायद मैं आपकी चिंता कुछ कम कर सके।”

” बीरबल, कल मैंने एक बहुत ही बुरा सपना देखा। मैंने देखा कि एक को छोड़कर मेरे सभी दाँत गिर गए हैं। मैंने इन सभी ज्योतिषियों को उस सपने का अर्थ बताने के लिए बुलाया है।’ बादशाह ने बताया।

” अच्छा, अच्छा! ” बीरबल को सारी बात समझ में आ गई थी। तभी बादशाह ने ज्योतिषियों से पूछा, ‘हाँ जी, तुम लोगों के गुणा-भाग का कोई नतीजा निकला या नहीं।’

” निकला है, हुजूर। हम सब ज्योतिषी आपस में सलाह-मशविरा करके इस नतीजे पर पहुँचे हैं कि जहांपनाह के सारे रिश्तेदारों की मौत उनसे पहले ही हो जाएगी। वही इस सपने का अर्थ है।’ एक ज्योतिषी बोला।

उस ज्योतिषी की बात सुनकर वहाँ मौजूद सभी दरबारी भौचक्के रह गए। दरबार में सन्नाटा छा गया था और सभी लोग सकपकाए हुए से बादशाह की ओर ही देख रहे थे। वे डर रहे थे कि कहीं बादशाह का दुख क्रोध में न बदल जाए। ज्योतिषियों की तो हालत खराब हो रही थी। बादशाह के माथे पर बल पड़ गए थे और मुट्ठियाँ भिच गई थीं।

बीरबल ने तुरंत हालात संभालने का फैसला कर लिया। वे बादशाह से बोले, ‘हुजूरे आला! मैं भी सपनों का अर्थ निकालने की विद्या थोड़ी-बहुत जानता हूँ। मुझे लगता है कि इन ज्योतिषियों ने आपके सपने का गलत अर्थ निकाला है। अगर इजाजत हो तो मैं भी इस सपने के बारे में कुछ अर्ज करूं?’

‘बोलो बोलो, बीरबल,” बादशाह के चेहरे पर कुछ चमक आ गई थी, ‘तुम्हारे ख्याल से मेरे सपने का क्या अर्थ हो सकता है?’

‘बंदापरवर, मेरे विचार से आपके सपने का अर्थ है कि आप दीर्घायु हैं। आप अपने सभी रिश्तेदारों से कहीं लम्बे वक्त तक जीवित रहेंगे और यह साम्राज्य आपकी हुकूमत के तले रोशन होता रहेगा।’

बीरबल की बात सुनकर अकबर के चेहरे पर रौनक आ गई और वे मुस्कुराने लगे। बीरबल ने उनके सपने की एक नए “दृष्टिकोण से व्याख्या करके पूरा वातावरण ही परिवर्तित कर दिया | था। बादशाह ने न सिर्फ बीरबल को पुरस्कृत किया, बल्कि | ज्योतिषियों को भी यथायोग्य है। सम्मान और इनाम देकर विदा किया। सभी ज्योतिषी बीरबल དེ་ प्रशंसा करते हुए अपने घर गए।

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों सपने की व्याख्या अकबर बीरबल Story आपको अच्छी लगा तो जरूर शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *