ग्लोबल वार्मिंग पर निबंध- Essay on Global Warming in Hindi

In this article, we are providing information about Global Warming in Hindi. Short Essay on Global Warming in Hindi. ग्लोबल वार्मिंग निबंध, What is Global Warming in Hindi, ग्लोबल वार्मिंग: कारण और उपाय, Global Warming Meaning Nibandh, Paragraph / Speech of Global Warming.

ग्लोबल वार्मिंग पर निबंध- Essay on Global Warming in Hindi

Global Warming Essay in Hindi in 100 words

ग्लोबल वार्मिंग पर्यायवरण से जुड़ा सबसे बड़ा मुद्दा है। धरती पर कार्बन डाई ऑक्साईड की मात्रा बढ़ने के कारण वातावरण का तापमान दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है जो कि सभी जीवों के लिए बहुत ही हानिकारक है। ग्लोबल वार्मिंग के कारण वर्षा में कमी आई है जिससे वनस्पति पर बहुत प्रभाव पड़ता है और सभी को अनुकूल वातावरण नहीं मिल पाता है। ग्लोबल वार्मिंग से छुटकारा पाने के लिए हम सबको ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने चाहिए ताकि वो कार्बन डाई ऑक्साईड को ग्रहण करले और ग्लोबल वार्मिंग की समस्या खत्म हो सके। हमें वाहनों का भी कम ही प्रयोग करना चाहिए।

Essay on Global Warming in Hindi in 300 words

ग्लोबल वार्मिंग का साधारण अर्थ ( What is Global Warming in Hindi ), पृथ्वी के लगातार बढ़ते हुए तापमान से है, जिसके अंतर्गत मौसम एवं जलवायु में एकाएक परिवर्तन हो रहे है ग्लोबल वार्मिंग 21वीं सदी का सबसे चिंताजनक विषय है, क्योकि धरती पर गर्मी बढने के कारण ग्लेशियर पिघल रहे है, समुंद्र का स्तर बढ़ रहा है, जिससे जीवो के जीवन पर सकंट आन खड़ा है

एक शोध के अनुसार ये दावा किया गया है, कि यदि ग्लोबल वार्मिंग इसी प्रकार बढती रही तो धरती को नष्ट होने से कोई नहीं बचा सकता

ग्लोबल वार्मिंग के कारण ( causes of global warming in Hindi ):

• ग्लोबल वार्मिंग के लिए सबसे अधिक उतरदायी ग्रीन हाउस गैसेस में लगातार होती बढ़ोतरी है| ग्रीन हाउस गैसेस में कार्बनडाईआक्साइड, मिथेन, आदि गैसेस शामिल है, जो सूर्य से आने वाली’ ऊष्मा को अवशोषित करती है
• अन्यं कारण मानव द्वारा प्रयोक किये जाने वाले स्त्रोत जैसे एसी, फ्रिज, एवं कारखानों से निकलने वाली गर्मी के कारण गर्मी का स्तर बढने लगा है

ग्लोबल वार्मिंग के दुष्परिणाम:

ग्लोबल वार्मिंग के घातक परिणामों की सूची काफी विस्तृत है, परन्तु हम यहाँ केवल कुछ महत्वपूर्ण प्रभावों के बारे में चर्चा करेंगे:-
• ग्लोबल वार्मिंग की बढ़ोतरी के कारण पर्यावरण पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है, जिससे प्राक्रतिक व्यवस्था का संतुलन भी बिगड़ता जा रहा है
• ग्लोबल वार्मिंग के कारण मौसम में हानिकारक परिवर्तन हो रहे है, बर्फ दिनोदिन पिघल रही है, एवं समुंद्र के जल का स्तर बढ़ रहा है, जिससे बाड़ के हालत बन ने की आशा की जा रही है
• ग्लोबल वार्मिंग से उत्पन्न तबाही को एक विश्व युद्ध से भी ज्यादा संकटपूर्ण माना जा रहा है

विश्व के सभी वैज्ञानिक चिंताजनक है, एवं विभिन्न प्रयासों में रत है, कि किस प्रकार दुनिया को तबाही से बचाया जाये| इसके लिए हम सभी को जागरूक होकर पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाना होगा, एवं इसे तत्वों एवं संसाधनों को त्यागना होगा जो ग्लोबल वार्मिंग को बढ़ावा देते है

Global Warming Essay in Hindi Language ( 400 words )

ग्लोबल वार्मिंग आज के समय की सबसे बड़ी समस्या है। पृथ्वी के तापमान में निरंतर हो रही वृद्धि को ही ग्लोबल वार्मिंग कहा गया है। हमारा वातावरण दिन प्रतिदिन गर्म होता जा रहा है जिसका मुख्य कारण वातावरण में कार्बन डाई ऑक्साईड की मात्रा में वृद्धि होना है। ग्लोबल वार्मिंग के हमारे जीवन पर बहुत ही नकारात्म प्रभाव पड़ते हैं।

ग्लोबल वार्मिंग के कारण– ग्लोबल वार्मिंग के बहुत से कारण हैं जिनमें से कुछ प्राकृतिक हैं तो कुछ मानव निर्मित हैं।

1. गरीन हाउस गैस जैसे कार्बन डाई ऑक्साईड, सल्फर डाई ऑक्साईड आदि की वातावरण में वृद्दि के कारण ग्लोबल वार्मिंग की समस्या उत्पन्न हुई है।
2. कारखानों से निकलने वाली विषयुक्त गैसों के कारण वातावरण का तापमान बढ़ रहा है।
3. निरंतर पेड़ो की कटाई के कारण वातावरण में मौजुद कार्बन डाई ऑक्साईड की खपत नहीं हो रही है जिससे कार्बन डाई ऑक्साईड की मात्रा वातावरण में बढ़ती जा रही है।
4. कोयले के प्रयोग से भी जहरीली गैसे निकलती है जो ग्लोबल वार्मिंग का कारण है।

ग्लोबल वार्मिंग के प्रभाव- ग्लोबल वार्मिंग के बहुत ही नकारात्मक प्रभाव है। इससे जलवायु परिवर्तन हो रही है जिसके कारण वर्षा अकाल हो रही है और हमारी फसलों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है। हमें शुद्ध ऑक्सीजन भी नहीं मिल रही है। ग्लेशियरस पिघल रहे हैं। ग्लोबल वार्मिंग के कारण ओजोन परत में भी छेद हो गया है जिसके कारण सूर्य की हानिकारक किरणें पृथ्वी पर पहुँच रही है जिससे त्वचा कैंसर की समस्या बढ़ रही है।

ग्लोबल वार्मिंग को कम करने के समाधान- ग्लोबल वार्मिंग वैश्विक स्तर की समस्या है जिसे कम करने के लिए विश्व के सभी लोगों को निम्लिखित समाधान करने होंगे-

1. ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने होंगे ताकि कार्बन डाई ऑक्साईड को उनके द्वारा ग्रहण कर लिया जाए।
2. कोयले के प्रयोग को कम करना होगा।
3. हमें ऊर्जा के ऐसे स्त्रोतों का प्रयोग करना होगा जो हानिकारक न हो जैसे सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा आदि।
4. परिवहन के साधनों को भी कम करके ग्लोबल वार्मिंग को बढ़ने से रोका जा सकता है। हमें नीजी वाहनों का प्रयोग करने की बजाय सार्वजनिक वाहनों का प्रयोग करना चाहिए।
5. अलग अलग तरह के कैंप लगाकर लोगों को ग्लोबल वार्मिंग से होने वाली हानि के विषय में बताना चाहिए और उन्हें इसे रोकने को प्रति जागरूक करना चाहिए।
6. हमें वातावरण में ग्रीन हाउस गैसों का कम उत्सर्जन करना चाहिए और जलवायु परिवर्तन को अपनाना चाहिए।

जलवायु परिवर्तन पर निबंध- Climate Change Essay in Hindi

# Global Warming Essay in Hindi  # Global Warming in Hindi Essay

# Essay on Global Warming in Hindi 250 words

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Essay on Global Warming in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Loading...

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *