बतख पर निबंध- Essay on Duck in Hindi

In this article, we are providing Duck bird information in Hindi- Short Essay on Duck in Hindi Language. बतख पर निबंध- Batakh par Nibandh.

बतख पर निबंध- Essay on Duck in Hindi

पूरे विश्व में पशु और पक्षियों की बहुत सी प्रजातियाँ पाई जाती हैं। बतख जलीय जीव है क्योंकि यह ज्यादातर समय पानी में ही व्यतीत करती है। बतख झील, तालाब और समुंद्र के पानी में रहती है। बतख की 40 प्रजातियाँ पाई जाती है जिनमें से कुछ अंटारटिका के ठंडे पानी में भी रह सकती है। बतख हंस की प्रजाति की सबसे छोटी जीव है। बतख के पंख जलरोधक होते है जो कि पूरा दिन पानी में रहने के बाद भी गिले नहीं होते है। बतख को आप चिड़ियाघर के कृत्रिम तालाब में भी देख सकते है।

बतख के पंख छोटे और नुकीले होते हैं और उनकी औसतन आयु 8 से 10 वर्ष तक होती है। बतख एक साल में 250-300 अण्डे देती है। मादा बतख अपने अंडो के उपर बैठकर उन्हें गर्मी प्रदान करती है और बतख के बच्चे 28 दिन में अण्डे से बाहर आ जाते हैं। नर बतख मादा बतख को पंख फैलाकर प्रजनन के लिए तैयार करते हैं। बतख सर्वाहारी होते है यह जल के पौधे छोटी मछली और कीड़े मकौड़े आदि खाते हैं। बतख के अण्डे बहुत भारी होते है और पौष्टिक तत्वों से भरपूर होते है। बतख समुंद्र के अंदर मीलों का लंबा सफर तय करते हैं।

बतख दिखने में बहुत ही सुंदर होता है और यह विभिन्न रंगों में पाया जाता है। इसकी चोंच चपटी हुई होती है जो कि बहुत ही सुंदर लगती है। इसके पंजे जालीदार होते है जो कि इनको तैरने में सहायता करते हैं। बतखों के बोलने पर क्वैक क्वैक की विशेष तरह की आवाज होती है। यह सीटी की आवाज भी निकालती है और इनकी आवाज धीमी और तेज भी हो सकती है।

बतख की गर्दन लंबी होती है लेकिन हंस से छोटी होती है। बतख की तीन पलकें भी होती हैं। बतखों के माँस और अण्डे की माँग होने की वजह से लोग बतख पालन भी कर रहे हैं। बतख ताजे पानी में रहना ज्यादा पसंद करते है। इनका मुँह स्पाट होता है। कुछ बतखों को पेड़ पर आराम करना पसंद होता है। कुछ बतख उड़ भी नहीं सकते है। बतख के पैर बर्फीले पानी में रहने की बावजुद भी ठंडे महसूस नहीं होते हैं। बतख कै पास दृष्टि भी बड़ी अच्छी होती है और वे रंग में भी देख सकते हैं। बतख भोजन की खोज में पानी में ज्यादा गहराई तक गोता भी खाते हैं। बतख के मुहँ कौ बिल भी कहते हैं। बतख बहुत ही छोटा और प्यारा पक्षी है।

राष्ट्रीय पक्षी मोर पर निबंध- Essay on Peacock in Hindi

तोते पर निबंध- Essay on Parrot in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Essay on Duck in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Leave a Comment

Your email address will not be published.