कन्या भ्रूण हत्या पर निबंध- Kanya Bhrun Hatya Essay in Hindi

In this article, we are providing Kanya Bhrun Hatya Essay in Hindi. कन्या भ्रूण हत्या पर निबंध Bhrun Hatya in Hindi Essay, Female Foeticide Essay In Hindi, कन्या भ्रुण हत्या के कारण, कन्या भ्रुण हत्या रोकने के उपाय। 

कन्या भ्रूण हत्या पर निबंध- Kanya Bhrun Hatya Essay in Hindi

Kanya Bhrun Hatya in Hindi Essay ( 200 words )

कन्या भ्रूण हत्या आज के समय की सबसे बड़ी समस्या है जिसके कारण लिंगनुपात में भारी गिरावट हुई है। कन्या भ्रूण हत्या का तात्पर्य कन्याओं को गर्भवती महिला के भ्रूण में ही मारना है। यह केवल एक समस्या ही नहीं बल्कि एक घिनौना अपराध है। कन्या भ्रूण हत्या लोगों की संकुचित मानसिकता की उपज है। लोग लड़कियों को बोझ समझते हैं और उनकी हत्या कर देते हैं। जहाँ एक तरफ समाज में लड़कियों को देवी की तरह पूजा जाता है वहीं दूसरी तरफ उन्हें जन्म से पहले ही मार दिया जाता है। कुछ लोग आर्थिक तंगी के चलते उनकी शादी में दहेज में देने वाले दहेज के बारे में सोचकर ही उन्हें गर्भ में मार देते हैं।

कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए सख्त कदम उठाने चाहिए। सरकार ने भी गर्भ में बच्चे की जाँच पर प्रतिबंध लगाया है। लोगों को भी अपनी संकुचित मानसिकता को बदल कर लड़के लड़की के भेदभाव को खत्म करना होगा। उन्हें देखना होगा कि लड़कियाँ भी नाम रोशन कर सकती है। कन्या भ्रूण हत्या को हमें अपने व्यक्तिगत स्तर पर खत्म करना होगा।
आज अगर लड़की बचाओगे तभी तो आने वाले समय में लड़के को पाओगे। लड़कियों के बिना जीवन संभव नहीं है।

Kanya Bhrun Hatya Essay in Hindi ( 600 words )

कन्या भ्रुण हत्या एक बहुत ही घिन्नोना अपराध है जिसमें लड़की को गर्भ में मार दिया जाता है जिसके कारण लिंगनुपात में गिरावट हुई है और आने वाले जीवन भी खतरे में है। भारत में 2011 में 1000 लड़को पर 918 लड़कियां रह गई थी। सबसे निम्न लिंगनुपात वाले राज्य हरियाणा पंजाब और गुजरात है। कन्या भ्रुण हत्या में केवल अशिक्षित या संकुचित मानसिकता वाले लोग सम्मलित नहीं है बल्कि समृद्ध और शिक्षित लोग भी शामिल है। तकनीकी विज्ञान ने भी कन्या भ्रुण हत्या को बढ़ावा दिया है लोग इसकी आड़ में लड़कियों को मरवा रहे है। जब हम किसी लड़की को मारते है तो हम आने वाली पीढ़ी को भी साथ साथ खत्म कर रहे होते हैं। कन्या भ्रुण हत्या आज के समय की सबसे बड़ी समस्या है।

कन्या भ्रुण हत्या समस्या के कारण- भारत एक पुरूष प्रधान देश है जहाँ पर लड़की शादी से पहले अपने पिता और भाई की बातें मानती है, शादी के बाद अपने पति और बुढ़ापे में बेटे की। कन्या भ्रुण हत्या का सबसे मुख्य कारण लोगों की मानसिकता है जो कि लड़को को ज्यादा प्राथमिकता देते है। उनका मानना है कि लड़के अपने होते है,वंश को आगे बढ़ाते है जबकि लड़की तो पराया धन होती है। लड़का पैसा कमाएगा नाम रोशन करेगा और लड़की सिर्फ घर का ही काम कर सकती है। दहेज प्रथा ने भी जन्म लेने से पहले ही लड़कियों को मार दिया है। आज के युग में लड़कियों को जन्म से पहले मारने का कारण बढ़ता शारिरीक शोषण है। रोज बलात्कार की खबरों से रंगे अखबारों को देखकर लोग चाहते है कि उनके घर बेटी जन्म ही न ले ताकि उसे समाज की इन यातनाओं को न सहन करना पड़े।

कन्या भ्रुण हत्या रोकने के उपाय- अगर जनेम से पहले लड़कियां यूहीं मरती रहेगी तो आने वाले समय में लड़के भी नही होगे यानि कि एक समय ऐसा भी आएगा जब जीवन ही समाप्त हो जाएगा। सरकार ने इस बढ़ते हुए खतरे को रोकने के लिए बहुत से कानुन लागु किए है जिसके अंतर्गत गर्भ में लिंग जाँच पर प्रतिबंध लगाया है। अगर गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला की जान को खतरा है तभी वह गर्भपात करवा सकती है। सिर्फ कानून बनाने से कुछ नहीं होगा यह समस्या निजी स्तर से शुरू हुई है तो इसे रोकना भी हमें ही होगा। समाज को लड़के और लड़कियों में भेदभाव करना बंद करना होगा और लड़कियों की जरूरत को समझना होगा। सरकार ने लोगों में जागरूकता लाने के लिए बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जैसी कई योजनाओं को शुरू किया है जिसके अंतर्गत उनके पढ़ने लिखने और शादी के लिए आर्थिक सहायता दी जा रही है। सरकार की इस मूहीम ने कन्या भ्रुण हत्या को रोकने में काफी सहायता की है।

निष्कर्ष- लड़का और लड़की जीवन रूपी गाड़ी के पहिए है किसी एक की कमी से भी पूरा जीवन डगमगा सकता है। अगर लड़का बाहर जाकर कमाता है तो आज के युग में लड़किया भी आगे बढ़ रही है। लड़किया हर क्षेत्र में लड़रो से आगे है बस जरूरत है तो उन्हें मौका देने की। उन्हें इस दुनिया में आने का मौरा दो वो तुम एक नई और खुबसुरत दुनिया देगी। कन्या भ्रुण हत्या को हम सब को मिलकर रोकना होगा और उनके भविष्य को भी उज्जवल बनाना होगा।

दो इन्हें एक बार जीवनदान।
ये भरेंगी बिन पंखो के उड़ान।।

Related Articles-

बेटी बचाओ निबंध -Save Girl Child Essay in Hindi

महिला सशक्तिकरण पर निबंध – Women Empowerment Essay in Hindi

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ निबंध- Beti Bachao Beti Padhao Essay in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Kanya Bhrun Hatya Essay in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *