मेरा गाँव पर निबंध- My Village | Mera Gaon Essay in Hindi

In this article, we are providing information about My Village in Hindi. Short Mera Gaon Essay in Hindi Language. मेरा गाँव पर निबंध- Mere Gaon par Nibandh. Checkout article on Kisan ki Atmakatha

मेरा गाँव पर निबंध- My Village | Mera Gaon Essay in Hindi

 

My Village Essay in Hindi | मेरा गाँव पर निबंध

यह मेरा गाँव है। यहाँ दो हज़ार लोग रहते हैं। यहाँ अधिकांश लोग किसान हैं। वे सुबह ही खेती के कामों में लग जाते हैं।

हमारे गाँव का निर्माण योजनाबद्ध रूप में किया गया है। सड़कें चौडी हैं । सड़कों की दोनों ओर भवन हैं। वे एक कतार में हैं। अधिकांश लोग पक्के भवनों में रहते हैं। मजदूर लोग झोंपड़ियों में रहते हैं।

मेरे गाँव में एक पाठशाला है। उस में पहली से सातवीं कक्षा तक पढ़ाई होती है। पाँच अध्यापक और एक हेडमास्टर है। सब लोग अच्छी तरह पढ़ाते हैं।

मेरे गाँव में एक मंदिर है। उसमें शिवजी और रामचंद्र की मूर्तियाँ हैं। यहाँ नित्य पूजायें होती हैं। त्योहारों के समय अधिक संख्या में भक्त आते हैं।

मेरे गाँव में दुग्ध – संग्रह – केंद्र है। किसान यहाँ दूध लाकर इस केंद्र में बेचते हैं। इस केंद्र से दूध शहर को भेजा जाता है।

यहाँ पेय-जल की अच्छी व्यवस्था है। वार्ड-सदस्य मिलकर गाँव की समस्याओं को सुलझाते हैं। यहाँ पब्लिक हेल्थ सेंटर और पशु-वैद्य , शला है। यहाँ ग्रामीण बैंक है। यहाँ से शहर जाने के लिए बस की भी सुविधा है।

मेरे गाँव में सब प्रकार की सुविधाये हैं। यहाँ की जनता में एकता है।’ सब मिलकर गाँव की उन्नति करते हैं।

जरूर पढ़े-

Cow Essay in Hindi
My House Essay in Hindi

Mera Gaon Nibandh | Essay in Hindi | मेरा गाँव निबंध हिंदी

मेरा गाँव एक बहुत ही छोटा सा गाँव है जो कि भारत के हरियाणा राज्य के करनाल जिसे में स्थित है। मेरे गाँव का नाम सालवन है जहाँ पर हिंदी और हरियाणवी भाषा मुख्य रूप से बोली जाती है। मेरा गाँव चारो तरफ से खेतों से घिरा हुआ है और यहाँ पर तरह तरग के फूल, पेड़, पौधे देखने को मिलते हैं। मेरे गाँव में सूबह के समय इतनी शांति होती है कि पक्षियों की चहचाहट बहुत ही मधुर लगती है। मेरे गाँव में सभी लोग मिल जुलकर रहते हैं और यहाँ आमतौर पर संयुक्त परिवार है। यहाँ कै लोगों का मुख्य पेशा खेती और पशुपालन है।

मेरे गाँव में एक बहुत ही बड़ा तालाब है जिसमें हम सब कभी कभी नहाने जाते हैं। तालाब के नजदीक ही एक बहुत बड़ा वट वृक्ष है जहाँ पर हर रोज संध्यकाल के समय बुजुर्गों की बैठक लगती है और ताश खेला जाता है। गलियों में बच्चे खेलते हुए दिखाई देते हैं और आज भी काकी चाची दही से मक्खन निकालती हुई दिखाई देती है। मेरे गाँव में एक स्कूल भी है जहाँ हम सब बच्चे पढ़ने जाते हैं और यहाँ पर बिजली पानी की भी उच्च व्यवस्था है। गाँव में एक छोटा सा चिक्त्सालय भी है।

मेरे गाँव में एक प्रसिद्ध मन्सा देवी का मंदिर है जहाँ पर नवरात्रों में बहुत बड़ा मेला लगता है। माता रानी के दर्शन करने के लिए बहुत दूर दूर से लोग आते हैं और रोनक लगी रहती है। मेरे गाँव में कपड़े, गहने आदि का बाजार नहीं है और यह सब सामान खरीदने के लिए हमें शहर जाना पड़ता है। मेरे गाँव में सभी त्योहार बड़ी खुशी के साथ एकसाथ मनाए जाते हैं। मेरे गाँव में बहुत सारे खुले मैदान भी है जहाँ हम क्रिकेट खेलते हैं और दौड़ लगाते हैं। मेरे गाँव में वाहन कम चलते हैं और हरियाली होने की वजह से प्रदुषण बिल्कुल भी नहीं है। सुबह सुबह ताजगी और शुद्ध हवा में साँस लेने का मजा ही कुछ और हैं। सांयकाल में जब गायों को बाँधा जाता है तो उनके पैरों से धूल उड़ती है और सूर्योदय धुँधला सा लगता है क्योंकि यहाँ की सड़के पक्की नहीं हैं।

मैं चाहता हूँ कि मैं बड़ा होकर एक अच्छा इंजीनियर बनूँ और अपने गाँव की सड़को को पक्का करवा सकुँ। मेरे दिल में मेरे गाँव की मिट्टी की खुशबू हमेशा रहेगी। मैं अपने गाँव से बेहद प्यार करता हूँ और मेरा गाँव सबसे प्यारा है।

जरूर पढ़े-

Meri Pathshala Nibandh

Essay on Indian Rural Life in Hindi- भारतीय ग्रामीण जीवन पर निबंध

ग्राम पंचायत पर निबंध- Essay on Gram Panchayat in Hindi 

 

इस लेख के माध्यम से हमने Mera Gaon Essay in Hindi | Mera Gaon Nibandh का वर्णन किया है और आप यह article को नीचे दिए गए विषयों पर भी इस्तेमाल कर सकते है।

माय विलेज इन हिंदी
mera village Essay
gaon ke bare mein nibandh
my village in hindi nibandh
essay on my village in hindi

10 thoughts on “मेरा गाँव पर निबंध- My Village | Mera Gaon Essay in Hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *