मेरा घर पर निबंध – Mera Ghar | My House Essay in Hindi

In this article, we are providing information about My House in Hindi. मेरा घर पर निबंध- My Home Essay in Hindi Language for students & Children for class 1,2,3,4,5,6,7,8

मेरा घर पर निबंध – My House Essay in Hindi

Mera Ghar par Nibandh | Lekh

मेरा घर अशोक विहार, रिंग रोड पर है। मेरे घर का नाम शांति भवन है। इसमें पाँच कमरे हैं। यह दो मंजिल वाला भवन है। नीचे एक बैठक, पाकशाला, शौचालय तथा दो कमरे हैं। ऊपर दो कमरे हैं। हर कमरे के साथ शौचालय और स्नानगृह भी है। अतिथिशाला में अतिथि आकर ठहरते हैं। मेरा कमरा ऊपर हैं जहाँ मैं अपने भाई के साथ रहता हूँ। यहाँ मेरे लिए और मेरे भाई के लिए कुर्सियाँ और मेजें लगी हैं जहाँ हम दोनों बैठ कर पढ़ते हैं।

बैठक में सोफा-कुर्सियाँ आदि लगी हैं। जहाँ मेरे पिता जी और उनके मित्र सदा बातें करते रहते हैं। बैठक में दो पंखे लगे हैं। यहाँ रेडियो और टेलीविजन भी रखे हैं। यहाँ एक टेलीफोन भी है।

बैठक के बाहर एक छोटा घास का मैदान है जहाँ किनारे पर फलों के वृक्ष हैं। पेड़ों की ठंडी छाया में तथा सुन्दर पुष्पों की क्यारियों के मध्य हम अपनी कुर्सियाँ डालकर बैठते हैं। हरी-हरी घास पर नंगे पाँव चलने में बड़ा आनन्द आता है।

हर कमरे में हवा और रोशनी का प्रबन्ध है। एक कमरे में हमने मन्दिर बनाया है जहाँ हम सब बैठ कर भगवान की आराधना करते हैं। यहाँ रामायण, गीता और दूसरी धार्मिक पुस्तकें रखी हुई हैं।

मेरे घर में मेरे माता-पिता, मैं और मेरा भाई रहते हैं। हमारा एक नौकर है। जिसको हमने बड़े गेट के समीप एक कमरा दिया है। वह और मेरा कुत्ता रूनी मेरे घर की रखवाली करते हैं।

मेरे पड़ोस में अच्छे लोग रहते हैं। उनके भवन भी हमारे भवन की तरह सुन्दर और आकर्षक हैं। हमारे पड़ोसी हमारे घर आते रहते हैं। हमारे घर में सदा शान्ति और आनन्द का साम्राज्य रहता है। हम सब मिलकर काम करते हैं। कोई किसी का अपमान नहीं करता। सब एक दूसरे का आदर करते हैं। मुझे मेरा घर बहुत प्रिय है।

# Short Essay on My Home in Hindi

Essay on My Village in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों My House Essay in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *