मेला पर निबंध- Mela Essay in Hindi

In this article, we are providing information about Mela in Hindi language. Mela Essay in Hindi, मेला पर निबंध, essay on Indian fair in Hindi in 100, 200, 300, 500 words For Students & Children.

दोस्तों आज हमने Essay on Mela in Hindi लिखा है, मेला पर निबंध हिंदी में कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 ,10, और 11, 12 के विद्यार्थियों के लिए है।

मेला पर निबंध- Mela Essay in Hindi

Mela Essay in Hindi

Mela Par Nibandh- मेला पर निबंध ( 150 words )

हमारे देश में समय-समय पर मेले लगते हैं। जिनमें से दशहरे के मेले की हम बहुत प्रतीक्षा करते हैं। इस बार भी मैं मेले में गया।

दशहरे का मेला रामलीला मैदान में लगता है। वहाँ रावण, कुंभकर्ण और मेघनाथ के बड़े-बड़े पुतले खड़े थे। मेले में बहुत भीड़ थी। सब लोगों ने अच्छे-अच्छे कपड़े पहने थे।

चारों तरफ़ तरह-तरह की दुकानें सजी थीं। एक तरफ़ चाट-पकौड़े, मिठाई और आइसक्रीम वाले थे तो दूसरी तरफ़ खिलौने और मुखौटे वाले। कोई तीर-कमान बेच रहा था तो कोई बाजा। तरह-तरह की आवाजें गूंज रही थीं। मैदान के दूसरी ओर ऊँचे-ऊँचे बिजली के झूले लगे थे। उनमें बच्चेबड़े सब झूलने का आनंद ले रहे थे।

तभी सबका ध्यान पुतलों की तरफ़ गया। रामलीला में बने राम ने एक तीर चलाया। पुतले तेज़ आवाजें करते हुए जल उठे। सामने रंग-बिरंगी आतिशबाजियाँ जलीं। मेले में हमने चाट-पकौड़े व आइसक्रीम खाई। सब खुशी-खुशी घर लौटे।

जरूर पढ़े-

Mera Gaon Essay in Hindi

 

Mela Essay in Hindi- मेला पर निबंध हिंदी में ( 300 words )

भारत मेलों का देश है जहाँ पर हर महीने कही न कहीं मेले लगते रहते है। किसी भी स्थान पर बहुत से लोगों का किसी सांस्कृतिक या व्यापारिक कार्य के लिए एकत्रित होना मेला कहलाता है। कुछ मेले धार्मिक कार्यक्रमों के लिए भी लगाए जाते हैं। मेले व्यक्ति को उसकी दैनिक दिनचर्या से राहत दिला कर आनंद प्राप्त करवाते हैं। बच्चों के लिए मेले मनोरंजन का बहुत ही अच्छा स्त्रोत है। भारत में सबसे बड़ा मेला कुंभ का मेला लगता है जो कि एक धार्मिक मेला है। व्यापारिक मेले समान, पशु आदि बेचने के लिए लगाए जाते हें। मेले जब भी लगते हैं पूरे वातावरण को खुशी से भर जाते हैं।

कार्यक्रम- मेलों में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। बच्चों के मनोरंजन के लिए झुले लगाए जाते है और बहुत सी खिलौनों आदि की दुकाने होती है। जगह जगह पर चाट पापड़ी वाले खड़े होते हैं। कुछ मेलों में जादु का खेल भी दिखाया जाता है। बहुत से खेलों में विजेता को ईनाम भी दिया जाता है। लोग मेलों में जाकर अपने परिवार को साथ समय व्यतीत करते हैं और बहुत सारी मस्ती करते हैं। मेलों में दुर दुर से लोग अपने वहाँ की प्रसिद्ध चीजें बेचने आते हैं। मेलों में कठपुतली का खेल भी दिखाया जाता है।

निष्कर्ष- मेले अपने साथ बहुत सारी खुशियाँ लाते हैं और यह सामुहिक कार्यक्रम है। मेलों की वजह से बहुत से लोगों को धन अर्जित करने का भी मौका मिलता है। मेले में जाने पर हमें बहुत सी नई बातों के बारे में जानने को भी मिलता है और हमारा मनोरंजन भी बहुत अच्छा होता है लेकिन कई बार बहुत से लोग मेलों का फायदा उठाकर आतंकवादी हमले भी करते है और मेलों में अक्सर चोरी की वारदात होती रहती है। मेला आयोजन करने वाली समीति को चाहिए कि सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाए और मेले में जाने वाले व्यक्तियों को अपने समान का स्वयं ध्यान रखना चाहिए।

 

Mela Hindi Essay | मेला पर निबंध ( 500 words )

प्रस्तावना

इस संसार में कई महान पुरुष पैदा हुए। कई महान घटनाएँ हुईं। बाद में आनेवाले लोग इनके बारे में जानकारी पाते हैं। उनसे कुछ प्रेरणा पाते हैं यानी खुद कुछ महान काम करने की इच्छा करते हैं। वे चाहते हैं आगे आनेवाले भी इसी तरह कुछ सीखें और कुछ करें। इसके लिए मनुष्य दूसरों को अपने साथ मिलाकर सामूहिक प्रयत्न करता है। इसी का नतीजा है “मेला”।

“मेला” का अर्थ

“मेला” शब्द का अर्थ है उत्सव आदि के लिए लोगों का एक जगह पर इक्कट्ठा होना। इनके ज़रिये पुरानी बातों की यादों को ताज़ा करते हैं।

मेले के प्रकार

मेले कई तरह के होते हैं। जैसे – ऐतिहासिक, धार्मिक, सामाजिक आदि। बनारस और प्रयाग में दशहरा ऐतिहासिक मेला है। ऐतिहासिक मेले राष्ट्रीय भावना को जगाते हैं, जातीय जीवन को जाग्रत करने में सहायक होते हैं। अनपढ़ लोग भी इनसे फ़ायदा उठा सकते हैं। रामलीला देखकर वे जान सकते हैं कि हमारे पूर्वज कितने धार्मिक, स्वाभिमानी और बलवान थे। धार्मिक मेलों में बच्चे, बूढ़े, स्त्री-पुरुष, सब तीर्थों पर पहुँच जाते हैं। लोग श्रद्धा और भक्ति से गंगा जैसी पवित्र नदियों में नहाते हैं। गायों का दान करते हैं। है, ब्राह्मणों को भोजन कराया जाता हैं। जगह-जगह साधु लोग धार्मिक बातें समझाते हैं। इस मौके पर दूकानदार, गाड़ीवाले, कुली ये सब खूब पैसे कमाते हैं।

मेलों से लाभ

मेलों में दूर-दूर के लोग मिलते हैं और आपस में बातचीत करते हैं। इससे हमारे सोचने का तरीका भी बदलता है। हमारे मन में से प्रांतीयता के भाव दूर हो जाते हैं और सब अपने को आपस में भाई-भाई समझने लगते हैं। दूर-दूर से आने के कारण रास्ते में सफ़र में बहुत सी तकलीफें उठानी पड़ती है। इनसे हमें खूब अनुभव होता है। इस अनुभव से हमारे मन की कमज़ोरी दूर हो जाती है और हम में अपने पैरों पर खड़े होने और मुसीबतों का सामना करने की ताकत आ जाती है। आ जाती है।

मेलों से हानि

मेलों से हानियाँ भी होती हैं। सफ़र में बहुत तकलीफें उठानी पड़ती हैं। कभी-कभी छूत. की बीमारियाँ भी फैलती हैं। गिरहकट (पाकेटमार) का डर लगा रहता है। बहुत भीड़ में कभी-कभी स्त्रियाँ और बच्चे खो जाते हैं और कभी-कभी वे भीड़ में लोगों के पैरों के नीचे दबकर मर भी जाते हैं।

निष्कर्ष

मेलों से हानियों के होने पर भी लाभ ही अधिक होते हैं। मेलों से हमको जो ज्ञान मिलता है, जो अनुभव मिलता है उनसे कोई भी इनकार नहीं कर सकता। जो बातें हम कई किताबों को पढ़ने के बाद भी नहीं जान पाते उन बातों को मेलों में भाग लेकर आसानी से सीख जाते हैं और उनको कभी भूलते भी नहीं। इसलिए मनुष्य के जीवन में सभी तरह के मेलों का बहुत महत्व है।

———————————–

इस लेख के माध्यम से हमने Mela Par Nibandh | Mela Essay in Hindi का वर्णन किया है और आप यह निबंध नीचे दिए गए विषयों पर भी इस्तेमाल कर सकते है।

Essay on Mela in Hindi Language
Fair Essay in hindi
Mela Hindi Essay
mela par nibandh in hindi
mela par nibandh hindi mein

Essay on Picnic in Hindi- पिकनिक पर निबंध

Kisi Yatra Ka Varnan in Hindi Essay- किसी यात्रा का वर्णन पर निबंध

Essay on Parvatiya Yatra in Hindi- पर्वतीय यात्रा पर निबंध

1 thought on “मेला पर निबंध- Mela Essay in Hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published.