उगादी त्योहार पर निबंध- Ugadi Festival Essay in Hindi Language

In this article, we are providing information about Ugadi Pachadi in Hindi- उगादी त्योहार पर निबंध- Short Ugadi Festival Essay in Hindi Language, Ugadi Tyohar Par Nibandh for class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 ,10, 11, 12 students.

उगादी त्योहार पर निबंध- Ugadi Festival Essay in Hindi Language

भूमिका- भारत में सभी त्योहार बहुत ही धुमधाम से हर्ष और उल्लास के साथ मनाए जाते हैं। उगादी हिंदुओं का एक प्रमुख त्योहार है जो कि विशेष रूप से महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक में मनाया जाता है। उगादी पर्व को नव वर्ष की तरह ही मनाया जाता है और हिंदु लोग इस दिन को साल का पहला दिन मानते है। उगादी को गुड़ी पाड़वा के नाम से भी जानते हैं जिसका अर्थ है विजय पताका। उगादी पर्व हर वर्ष चैत्र माह के शुक्ल प्रतिपद को मनाया जाता है।

उगादी पर्व की कहानी- हर पर्व की तरह उगादी पर्व से भी बहुत सी कहानियाँ जुड़ी हुई है। माना जाता है कि इस दिन ही ब्रहमा जी ने ब्रहमांड की स्थापना की थी और तभी से हर वर्ष उगादी पर्व को नए वर्ष के रूप में मनाया जाता है। कहा जाता है कि इस दिन रामचंद्र औक युधिष्ठिर का राज्यभिषेक हुआ था। इस दिन ही महाराज नरेश विक्रमादित्य ने भारत भूमि की रक्षा शंको से की थी। इस पर्व को असत्य पर सत्य की विजय के रूप में भी मनाया जाता है।

कार्यक्रम- उगादी पर्व पर विभिन्न प्रकार की तैयारियाँ की जाती है और लोगो में खुशी और उत्साह की लहर होती है। इस दिन घरों की साफ सफाई की जाती है और रंगोली बनाई जाती है। घर के दरवाजों को आम के पत्तों से सजाया जाता है। इस दिन घर के सभी लोग काम से छुट्टी लेकर साथ में समय व्यतीत करते है और मस्ती करते हैं। इस दिन हास्य कवि सम्मेलन आदि का आयोजन किया जाता है। सुबह सुबह भगवान से प्रार्थना की जाती है और घरों में तरह तरह के व्यंजन बनाए जाते हैं। उगादी के दिन गुड, कच्चे आम, मीम के फूल और इमली के प्रयोग से उगादी पच्चडी नामक विशेष व्यंजन बनाया जाता है।

निष्कर्ष- उगादी का पर्व नए साल की शुरूआत होती है। इस दिन से ही शिक्षा और राज कोष का नव वर्ष आरंभ होता है। इस दिन से रितुओं में भी बदलाव होता है और दिन लंबे और राते छोटी होने लगती है। उगादी संघर्ष और बहादुरी का पर्व है और इतिहास में भी इस दिन बहुत से अच्छे कार्य किए गए है। उगादी के पर्व पर लोगों में बहुत ही ज्यादा खुशी और उत्साह होता है। उगादी के दिन ही नवरात्री का आरंभ होता है। उगादी दिन सभी शुभ कार्यों के लिए शुभ मुहर्त होता है और इसे राष्ट्रीय गौरव तिथि के रुप में जाना जाता है।

# Essay on Ugadi Festival in Hindi # उगादी फेस्टिवल निबंध

Essay on Diwali in Hindi- दिवाली पर निबंध

ओणम पर निबंध- Essay on Onam in Hindi

गणेश चतुर्थी पर निबंध- Essay on Ganesh Chaturthi in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Ugadi Festival Essay in Hindi Language आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *