ओणम पर निबंध- Essay on Onam in Hindi

In this article, we are providing information about Onam Festival in Hindi- Essay on Onam in Hindi Language. ओणम पर निबंध- Short Onam Essay in Hindi.

ओणम पर निबंध- Essay on Onam in Hindi

भारत पर्वों का देश है जहाँ पर सभी त्योहार बड़े ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाए जाते हैं। यहाँ पर लोग राष्ट्रीय त्योहार के साथ साथ अपने राज्य के अलग अलग त्योहार भी बड़ी खुशी से मनाते हैं। ओणम केरल में मनाया जाने वाला त्योहार है और यह वहाँ के राष्ट्रीय त्योहार के रूप में मनाया जाता है। यह फसलों से जुड़ा त्योहार है और सितंबर या अक्तुबर में मनाया जाता है। यह त्योहार दस दिन तक मनाया जाता है।

हर पर्व की तरह ओणम के पर्व के साथ भी एक प्राचीन कथा जुड़ी हुई है जो कि वामन अवतार विष्णु भगवान और असुरों के राजा महाबली की है। जब असुरों की ताकत बढ़ती गई और उन्होंने अपनी शक्तियों को बढ़ाने के लिए यग किया तब महाबली ने कहा था कि उससे कोई कुछ भी माँगने आएगा तो वह उसकी इच्छा पूरी करेगा। तब असुरों की बढ़ती ताकत को रोकने के लिए विष्णु जी ने वामन का अवतार लिया और महाबली से तीन पग जमीन माँगी। महाबली ने वादे मुताबिक वाहम को उसकी इच्छा से तीन पग जमीन लेने को कहा। तब वाहम ने पहले पग में पूरी जमीन नाप ली और दुसरे में पूरा स्वर्ग। तब महाबली ने तीसरा पग उसके सिर पर रखने को कहा तब वामन ने तीसरा पग उसके सिर पर रखकर उसे पाताल में उतार दिया। पाताल जाने से पहले महाबली ने कहा कि ओणम का त्योहार मनाया जाए और उन्हें उस दिन पाताल लोक से धरती पर आने की अनुमति दी जाए। केरल के लोगों का मानना है कि इस दिन उनके राजा महाबली धरती पर आते है और दस दिन तक उनके साथ रहते हैं। महाबली बहुत ही अच्छे राजा थे और वह हमेशा अपनी जनता का हित और उनकी खुशी चाहते थे। उनमें अपनी जनता के लिए दया भाव था।

ओणम के त्योहार पर महिलाएँ घर पर फूलों से रंगोली बनाती है और हर रोज उसमें एक वृत बढ़ा देती है। बीच में विष्णु भगवान और महाबली की प्रतिमा बनी होती है। इस पर्व पर नौका दौड़ का भी विशेष महत्व है। मंदिरों में विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है जिसे देखने के लिए देश विदेशों से लोग आते हैं। केरल में 10 दिन तक अवकाश रहता है और लोग छुट्टी मनाने अपने रिश्तेदारों के यहाँ भी जाते हैं। यह पर्व केरल के लोगों में एक नई खुशी और उमंग की लहर लाता है। लोग ओणम का त्योहार भारतीय प्रवासी देश में भी मनाते हैं।

Essay on Diwali in Hindi- दिवाली पर निबंध

Essay on Holi in Hindi- होली पर निबंध

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Essay on Onam in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *