तुलसी के पौधे पर निबंध- Essay on Tulsi Plant in Hindi

In this article, we are providing Tulsi Plant information in Hindi- Essay on Tulsi Plant in Hindi Language. तुलसी के पौधे पर निबंध, Tulsi Ka Mahatva

तुलसी के पौधे पर निबंध- Essay on Tulsi Plant in Hindi

तुलसी शाकीय तथा औषधीय गुणों से भरपूर पौधा है जिसे हिंदु धर्म में बहुत ही पवित्र माना जाता है। यह 1-3 फूट ऊँचा होता है और झाड़ी के रूप में उगता है। इसके पते 1 से 2 इंच तक लंबे होते हैं और इस पर दिल के आकार के फूल चक्र में खिलते हैं। यह वर्षा रितु में खिलना आरंभ होता है। यह लगभग 2 से 3 साल तक हरा भरा रहता है लेकिन उसके बाद यह मुरझा जाता है और इसके पत्ते झड़ने लगते हैं। भारत में हर घर के आंगन में तुलसी का पौधा पाया जाता है।

तुलसी के प्रकार ( Type of Tulsi )- तुलसी की बहुत सी प्रजातियाँ पाई जाती है जिसमें से ऑसमिम कैक्टम को सबसे पवित्र माना जाता है जो कि दो प्रकार की है। श्री तुलसी जिसके पत्ते हरे रंग के होते हैं और शाखाएँ श्वेतभाव प्रतीत होती है। कृष्णा तुलसी जिसके पत्ते बैंग्नी रंग के होते हैं और शाखाएँ काले रंग की होती है।

तुलसी का महत्व ( Tulsi ka mahatva in hindi )- तुलसी के पौधे का प्राचीन काल से ही हमारे जीवन में बहुत महत्व रहा है। नियमित रूप से इसकी पूजा की जाती है और इसे देवी देवताओं को भी अर्पण किया जाता है।

तुलसी की रासायनिक सरंचना- तुलसी के अंदर बहुत से पौष्टिक तत्व पाए जातो हैं। इनमें तनावरोधक, बिमारीरोधक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।

तुलसी के औषधीय गुण- तुलसी के पौधे में हर रोग से लड़ने की क्षमता है और यह हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद है। इससे विभिन्न प्रकार की दवाईंया बनाई जाती है और तुलसी की चाय पीने से सिर दर्द, खाँसी, जुकाम और बुखार आदि में राहत मिलती है।

तुलसी का प्रयोग ( uses of tulsi in hindi language ) – तुलसी का प्रयोग ज्यादतर घरेलू नुस्खों के लिया किया जाता है।

1. तुलसी के पतों को गर्म पानी से धोकर खाने से लिवर की परेशानी में आराम मिलता है।
2. दाद और खुजली वाले स्थान पर तुलसी का अर्क लगाने से आराम मिलता है।
3. तुलसी के रस को शहद में मिलाकर चाटने से चक्कर आने बंद हो जाते है।
4. रोज दो बार 10-12 तुलसी के पत्ते खाने से तनाव से मुक्ति मिलती है।
5. जिन्हें सर्दी जल्दी लगती है वह तुलसी के पत्तों को दुध में उबालकर पिए।

उपसंहार- तुलसी का पौधा हमारे लिए बहुपयोगी और जरूरी है। दवाई खाने से अच्छा है तुलसी का काढ़ा पी लिया जाए जिसके कोई दुष्प्रभाव भी नहीं है। तुलसी देवी समान पूजनीय है और इसे आयुर्वेद में भी विशेष स्थान प्राप्त है।

# Short Tulsi Plant Essay in Hindi

पर्यावरण पर निबंध- Essay on Environment in Hindi

पेड़ों का महत्व निबन्ध- Essay On Importance Of Trees in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Essay on Tulsi Plant in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *