डिजिटल इंडिया निबंध- Digital India Essay in Hindi

In this article, we are providing Digital India Essay in Hindi. डिजिटल इंडिया पर निबंध, Digital India mission, Digital India Essay in Hindi 200, 400, 500 words. Article/Paragraph or Speech on Digital Bharat/India Project.

डिजिटल इंडिया निबंध- Digital India Essay in Hindi

Digital India Essay in 200 words

डिजीटल इंडिया के कार्यक्रम की शुरूआत 1 जुलाई, 2015 को मोदी सरकार द्वारा दिल्ली के इंदिरा गाँधी इंदौर स्टेडियम में अनिल अंबानी जैसी हस्तियों की उपस्थिति में हुई था। इसका मुख्य उद्देश्य पूरे भारत को इंटरनेट से जोड़ना है और कार्य को सरलता और गति प्रदान करना है। इसके लिए बहुत से शहरों और गाँवों में फाईबर केबल्स बिछाए गए हैं और स्मार्ट फोन को भी सस्ता किया गया है ताकि लोग आसानी से इंटरनेट तक पहुँच बना सके। अनिल अंबानी ने भी जियो के माध्यम से लोगों को मुफ्त में इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध कराई थी। भारत के डिजीटल होने के कारण बहुत से आईटी इंजीनियर को रोजगार भी मिला है।

डिजीटल होने के कारण हम सब ज्यादा जागरूक बने हैं क्योंकि हम सरकार के किसी भी कार्यक्रम की पूरी जानकारी यहाँ से प्राप्त कर सकते हैं। हम घर बैठै आधे से ज्यादा कार्य कर सकते हैं जिनके लिए पहले लंबी लाईनों में लगना पड़ता था। इंटरनेट के बढ़ते प्रयोग के कारण साईबर अपराध की संख्या में भी वृद्धि हुई है इसलिए सरकार को चाहिए कि इन सब पर नियंत्रण रखने के लिए एक समीति बनाए। लोगों को भी अच्छे तरीके से ही इस कार्यक्रम का प्रयोग करना चाहिए।

Essay on Digital India in Hindi (400words)

डिजिटल इंडिया क्या है? ( What is Digital India in Hindi )

डिजिटल इंडिया भारत सरकार के द्वारा उद्गोहिषत एक महतवपूर्ण योजना है, जिसका प्रमुख उद्देश्य भारत को प्रभावी रूप से डिजिटल बनाना है भारत एक महान देश है, और हजारों, लाखों गाँव इसके साथ जुड़े हुए है, उन सभी गाँवों को इन्टरनेट के साथ जोड़ना और अर्थव्यवस्था को सशक्त बनाना ही इस कार्यक्रम का मुख्य मकसद है

डिजिटल इंडिया की शुरुआत: किसने और कब शुरू किया डिजिटल भारत अभियान?

डिजिटल भारत अभियान की शुरुआत 1 जुलाई 2015 को, दिल्ली के इंदिरा गाँधी स्टेडियम में की गई थी! इस कार्यक्रम में देश की तमाम प्रसिद्ध हस्तियाँ मौजूद थी, जैसे- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, मुकेश अंबानी, विप्रो के प्रमुख अजीम प्रेमजी, और टाटा कम्पनी के प्रमुख साइरस मिस्त्री आदि सभी प्रमुख व्यक्तियों ने वहां पर अपने विचार रखे, और डिजिटल इंडिया से सम्बंधित योजनायों को उजागर किया गया
इस योजना की सफलता के लिए 113,000 करोड़ के राशी लगाने की बात सामने आई है, जिसमे ई- शिक्षा, ई स्वास्थ्य योजनायें, प्रत्येक गाँव को इन्टरनेट के साथ जोड़ना, डिजिटल हस्ताक्षर एवम ई लाकर आदि योजनाये जोड़ी गई है

डिजिटल इंडिया प्रोग्राम के मुख्य उद्देश्य:

डिजिटल इंडिया, देश के प्रत्येक नागरिक को आधुनिक तकनीक से रूबरू करवाने का प्रमुख कदम है, जिसके उद्देश्य इस प्रकार है:-
• सभी जगहों पर ब्रॉडबैंड की सुविधा उपलब्ध करवाना
• गाँवो एवं छोटे जिलो को मोबाइल कनेक्टिविटी देना
• प्रत्येक सरकारी विभाग को इन्टरनेट के साथ जोड़ना
• विभिन्न सर्विस सेंटर्स एवं नॉलेज सेंटर्स की स्थापना करना
• ई-स्वास्थ्य योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन मेडिसिन उपलब्ध करवाना
• ई-क्रांति के अंतर्गत किसानो की सुविधा के लिए ई-बैंकिंग एवं लोन की सुविधा उपलब्ध करवाना
• ई-पुलिस, साइबर सिक्यूरिटी एवं डिजिटल कोर्ट की व्यवस्था करना, जिससे अपराधों पर रोक लगाई जा सके और मुकदमों के फैसले जल्दी किये जा सके
• विभिन्न प्रकार के मॉडर्न उपकरणों का निर्माण देश में किया जायेगा

डिजिटल इंडिया के लाभ ( Benefits of Digital India ):

डिजिटल इंडिया का प्रथम चरण 2019 तक पूरा करने की उम्मीद की जा रही है. इसके कुछ महतवपूर्ण लाभ इस प्रकार है:
• देश में अधिक से अधिक रोजगार उपलब्ध होंगे, जिस से बेरोजगारी कम होगी
• देश की आर्थिक एवं सामाजिक व्यवस्था और सशक्त बनेगी
• इन्टरनेट टेक्नोलॉजी के कारण देश का चौमुखी विकास होगा

Digital India Essay in Hindi (500 words)

भूमिका- डीजिटल इंडिया देश की प्रगति के लिए चलाया गया एक बहुत ही अच्छा कार्यकरम है। यह १ जुलाई २०१५ को नरेंदर् मोदी और अनिल अंबानी जैसी हस्तियों के साथ मिलकर शुरू किया गया था। इसका मुख्य उद्धेश्य सरकार और जनता को जोड़ना है और साथ ही साथ कार्यों की गति को भी बढ़ाना है ताकि लोगों को अपने काम पूरे कराने के लिए ज्यादा परेशान न होना पड़े ,न ही ज्यादा इंतजार करना पड़े। शिक्षा से लेकर रोजगार तक , कानून से लेकर सरकार तक, एक देश से दूसरे देश तक सबको इंटरनेट से जोड़ा गया है। इसी को हमने डीजिटल इंडिया कहा है।

भारत को डीजिटल बनाने के लिए उठाए गए कदम– हर कीम को जल्दी और सुनिश्चित तरीके से करने के लिए भारत को डीजिटल बनाना बहुत ही आवश्यक है। इसके लिए बहुत से काम भी किए गए हैं-

1. सभी गाँवों को इंटरनेट की सुविधा से जोड़ा गया है जिसे करने के लिए बहुत सी फाईबर ऑप्टिकस केवल लगाई गई है।
2. समार्ट फोनों के दाम गिराए गए ताकि लोग आसानी से समार्ट फोन खरीद सके और डीजिटल इंडिया से जुड़ सके।
3. सभी को ई- सूचना के माध्यम से भारत को डीजिटल बनाने के बारे मे बताया गया।
4. बहुत से आईटी इंजीनियर को भी नियुक्त किया गया।

डीजिटल इंडिया के लाभ– भारत के डीजिटल होने की वजह से सभी काम आसानी से और बिना ज्यादा समय व्यर्थ किए होने लगे है। लोगों की जानकारी में भी वृद्धि हुई है। डीजिटल भारत के निम्नलिखित लाभ हैं-

1. अब चाहे पिक्चर की टिकट हो या फिर रेलगाड़ी की सब इंटरनेट से हो जाता है। हमें घंटो लाईन में नही खड़ा होना पड़ता।
2. डीजिटल होने की वजह से हम इंटरनेट पर खरीददारी भी कर सकते है और डीलिवरी भी बहुत जल्दी होती है।
3. डीजिटल भारत की वजह से बहुत से आईटी इंजीनियरों को रोजगार भी मिला है।
4. हम सभी सरकार से सीधे तरीके से जुड़े हुए है।
5. लोगों में जागरूकता आई है।
6. हम कोई भी फाईल ई- मेल के जरिए एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को भेज सकते हैं।
7. डीजिटल की वजह से हम बाहर कहीं होने पर भी शिक्षक को ओनलाईन सुन सकते हैं। इस तरह हमारी पढाई भी डीजिटल हो चुकी है।

डीजिटल भारत की कमियाँ– फायदे और नुकसान एक ही सिक्के के दो पहलु है। अगर किसी चीज के लाभ हैं तो हानियाँ भी हैं। इससे होने वाली हानियाँ निम्नलिखित है-

1. इससे किसी भी चीज में गोपनियता नहीं रहती और बहुत से अपराध भी होते हैं ।
2. एक जानकारी दूसरे व्यक्ति को देना बहुत ही आसान है जिसकी वजह से बहुत सी जरूरी बातें दुसरे देशों में चली जाती है और हानिकारक साबित हो जाती है।
3.इसकी वजह से लोग आलसी भी बनते जा रहे है ।

निष्कर्ष- भारत का डीजिटल होना हम सबके लिए बहुत ही फायदेमंद है।अगर हम सब मिलकर सही ढ़ग से इंटरनेट का इस्तमाल करे तो भारत जल्दी ही एक प्रगतिशील देश बन सकता है।

Essay on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi

मेक इन इंडिया पर निबंध- Make in India Essay in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Digital India Essay in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *