प्लास्टिक प्रदूषण पर निबंध- Essay on Plastic Pollution in Hindi Language

In this aricle we are providing information about Plastic Pollution in Hindi. Essay on Plastic Pollution in Hindi Language. प्लास्टिक प्रदूषण पर निबंध, प्लास्टिक प्रदुषण के कारण, प्लास्टिक प्रदुषण के प्रभाव, प्लास्टिक प्रदुषण के निवारण, Plastic Pollution causes, effects and Solution.

प्लास्टिक प्रदूषण पर निबंध- Essay on Plastic Pollution in Hindi Language

भूमिका- किसी भी चीज के दुषित होने को प्रदुषण कहा जाता है और प्लास्टिक की वजह से होने वाले प्रदुषण को प्लास्टिक प्रदुषण कहा जाता है। मनुष्य ने अपनी सहुलियत के लिए प्लास्टिक का निर्माण किया था लेकिन वह आज के समय में पूरी तरह से प्लास्टिक पर निर्भर हो चुका है। हम चारों तरफ से प्लास्टिक से घिरे हुए है। हम सुबह ब्रश से लेकर रात को खाना खाने के बर्तनों तक प्लास्टिक का प्रयोग कर रहे है। हम भूल जाते हैं कि प्लास्टिक को नष्ट नहीं किया जा सकता है और इसमें से निकलने वाले हानिकारक रसायन सभी जीवों और पर्यायवरण पर नकारात्मक प्रभाव डालते हैं।

प्लास्टिक प्रदुषण के कारण- प्लास्टिक प्रदुषण का सबसे बड़ा कारण मनुष्य के द्वारा प्लास्टिक का अंधाधुंध प्रयोग है और प्लास्टिक के बढ़ते प्रयोग के पीछे बहुत से कारण है-

1. प्लास्टिक महंगा नहीं होता है और न हीं ज्यादा वजन वाला होता है जिसके कारण इसे एक स्थान से दुसरे स्थान पर ले जाना आसान होता है।
2. आज के समय में लोग बाहर का जंक फूड खाने के बहुत आदि है जिसे प्लास्टिक में ही दिया जाता है।
3. प्लास्टिक को एक बार ही प्रयोग करने के बाद फेंक दिया जाता है। वह नष्ट नहीं होता है बल्कि पानी और मिट्टी में मिलकर उन्हें दुषित करता है।

प्लास्टिक प्रदुषण के प्रभाव- प्लास्टिक ने जहाँ मनुष्य को समान सुविधापूर्वक लाने ले जाने में सहायता की है वहीं उससे कही ज्यादा हमारे वातावरण और पेड़ पौधों और जीव जंतुओं पर नकारात्मक प्रभाव डाले है।

1. मिट्टी में प्लास्टिक के मिलने पर प्लास्टिक से निकलने वाले हानिकारक रसायन मिट्टी की उर्वरता शक्ति को कम कर देतै हैं जिससे पौधों और फसलों का उचित विकास नहीं होता है।
2. जमीन पर प्लास्टिक पॉलीथिन आदि गिरो होने के कारण बहुत से पशु उन्हें खाकर मर जाते हैं।
3. प्लास्टिक जल प्रदुषण का भी एक बहुत बड़ा कारण है।

प्लास्टिक प्रदुषण के निवारण- बढ़ते हुए प्लास्टिक प्रदुषण को रोकने के लिए कुछ उपाय जरूरी है जिससे कि हमारे वातावरण को स्वच्छ रखा जा सके।

1. हमें प्लास्टिक का प्रयोग कम करना चाहिए और उनके स्थान पर ऐसी वस्तुओं का प्रयोग करना चाहिए जिन्हें आसानी से नष्ट से किया जा सके।
2. हमें प्लास्टिक बैग के स्थान पर कपड़े या जुट के थैलों का प्रयोग करना चाहिए।
3. प्लास्टिक का पुनः उपयोग किया जाना चाहिए ताकि प्लास्टिक का उत्सर्जन कम हो।

निष्कर्ष- प्लास्टिक जहाँ एक तरफ मनुष्य के लिए लाभदायक है वहीं दुसरी तरफ हानिकारक भी है। यदि निरंतर मनुष्य के द्वारा प्लास्टिक का प्रयोग बढ़ता रहा तो आने वाले समय में पृथ्वी पर जीवन नहीं केवल प्लास्टिक ही होगा। इसलिए अपने वातावरण, वनस्पति और जीव जंतुओं को आरामदायक जीवन देने के लिए प्लास्टिक का प्रयोग सीमित किया जाना चाहिए। इसके लिए हम सबको मिलकर आगे आना होगा और ऐसी वस्तुओं का प्रयोग करना होगा जो पुनः प्रयोग में लाई जा सकती है। प्लास्टिक को त्यागना ही प्लास्टिक प्रदुषण का निवारण है और ऐसा करने से हम आने वाली पीढ़ी को एक उज्जवल भविष्य प्रदान कर सकते हैं।

Related Articles-

ध्वनि प्रदूषण पर निबंध- Noise Pollution Essay in Hindi

Essay on Pollution in Hindi- प्रदूषण पर निबंध

Water Pollution Essay in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Essay on Plastic Pollution in Hindi Language आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *