Essay on My Teacher in Hindi- मेरी अध्यापिका पर निबंध

In this article, we are providing Essay on My Teacher in Hindi | Meri Adhyapika Essay in Hindi, मेरी अध्यापिका पर निबंध हिंदी | Nibandh in 100, 200, 300, 500 words For Students & Children.

दोस्तों आज हमने My Teacher Essay in Hindi लिखा है। अध्यापक पर निबंध हिंदी में कक्षा 1, 2, 3, 4,5, 6, 7, 8, 9 ,10 और 11, 12 के विद्यार्थियों के लिए है।

Essay on My Teacher in Hindi- मेरी अध्यापिका पर निबंध

 

मेरी अध्यापिका पर निबंध | Teacher par Essay in 100 to 120 words

सविता मैडम हमारी कक्षा की अध्यापिका हैं। वे हमें सभी विषय पढ़ाती हैं। हम सब उनके आने से प्रसन्न हो जाते हैं।

सविता मैडम सरल व शांत स्वभाव की हैं। उन्हें बच्चों से हँसीमज़ाक करना बहुत अच्छा लगता है। सविता मैडम को कभी गुस्सा नहीं आता। वे सदा गोद में बिठाकर प्रेम से समझाती हैं।

हमारी सभी बातों को ध्यान से सुनकर मैडम हमारे प्रश्नों के उत्तर देती हैं। उनकी लिखाई बहुत सुंदर है। हम भी उनकी तरह सुंदर लिखने की कोशिश करते हैं। सीमा

सविता मैडम को हम सब बच्चों के नाम भी याद हैं। वे हमें पढ़ाई के अलावा सुंदर कविताएँ और कहानियाँ भी सिखाती हैं। हमारी कक्षा के सभी बच्चे प्रतियोगिताओं में भाग लेते हैं और सफल होते हैं।

जरूर पढ़े-

10 Lines on Teacher in Hindi

 

Essay on My Teacher in Hindi | हमारे अध्यापक जी पर निबंध 120 to 150 words

हमारे अध्यापक जी का नाम श्री शंकर है। उनकी आयु लगभग पचास वर्ष है। उनका स्वास्थ्य बहुत अच्छा है। वे इस विद्यालय में पिछले वर्ष आए थे। वे जालन्धर के रहने वाले हैं। वे समय पर स्कूल में आते हैं। उनका स्वभाव बहुत ही सरल है। वे बच्चों को प्यार करते हैं और उन्हें अपने बेटों के समान समझते हैं। वे सत्य बोलने पर बहुत जोर देते हैं। वे कभी झूठ नहीं बोलते। उनका रहन-सहन सादा है। वे पजामा, कमीज तथा ऐनक पहनते हैं।

वे योग्य और परिश्रमी अध्यापक हैं। हमें वे बहुत प्यार से पढ़ाते हैं। वे दण्ड कभी नहीं देते हैं। वे हमें डाँटते भी नहीं हैं। वे हमें हिन्दी और गणित पढ़ाते हैं। स्कूल के सब छात्र उनकी प्रशंसा करते हैं। वे हमारे साथ खेलों में भी भाग लेते हैं। हम भी अपने अध्यापक जी की आज्ञा मानते हैं। हम उनका बहुत सम्मान करते हैं।

जरूर पढ़े-

10 Lines on My Favourite Teacher in Hindi

10 Lines on Teachers Day in Hindi

 

My Teacher Essay in Hindi 300 words

मैं माडर्न स्कूल, वसंत विहार में पढ़ता हूँ। मैं छठी कक्षा में पढ़ता हूँ। मेरी कक्षा की अध्यापिका श्रीमती शर्मा हैं। वे हमें बड़े प्यार से पढ़ाती हैं। वे बड़े शान्त स्वभाव की महिला हैं। उन्होंने एम. ए. हिन्दी में किया है। उनकी आयु चालीस वर्ष है। वे हमें हिन्दी और संस्कृत पढ़ाती हैं। वे हमें कभी नहीं मारतीं। वे पाठ को स्वयं पढ़कर तथा श्यामपट पर लिखकर समझाती हैं। कमजोर बच्चों का वे विशेष ध्यान रखती हैं। पाठ समझ न आने पर वे दोबारा समझाती हैं। कभी-कभी वे हमें डाँटतीं भी हैं। हम सब बच्चे उनका बहुत आदर करते हैं।

माता-पिता के बाद अध्यापक ही बालक के जीवन को बनाने वाला होता है। यदि अध्यापक महान हो तो उनका बच्चों पर अच्छा असर पड़ता है। मेरी अध्यापिका एक महान महिला हैं। वे एक धार्मिक विचारों की महिला हैं। वे सब बच्चों को अपने बच्चों के समान प्यार करती हैं। वे हमें अच्छी-अच्छी कहानियाँ सुनाती हैं। सब बच्चे उनकी बातों को बड़े ध्यान से सुनते हैं।

मेरी अध्यापिका स्कूल के पास रहती हैं। वे सदा समय पर स्कूल आती हैं। वे सदा खड़ी होकर हमें पाठ पढ़ाती हैं। वे पढ़ाते-पढ़ाते हमें हँसाती हैं और स्वयं भी हँसती हैं। वे कक्षा के अनुशासन का बहुत ध्यान रखती हैं। हमारे मुख्याध्यापक भी उनका आदर करते हैं।

श्रीमती शर्मा साधारण वस्त्र पहनती हैं। उनके वस्त्र सदा साफ और उजले होते हैं। उनके माथे पर तेज है। उनकी प्रतिभा और विद्वता का प्रभाव हम सब पर पड़ता है। वे एक आकर्षक व्यक्तित्व की स्वामिनी

श्रीमती शर्मा हमें कभी-कभी पिकनिक के लिए किसी उद्यान में या किसी नदी के किनारे ले जाती हैं। वहाँ वे हमारे साथ खेलती हैं। वे हमें माँ का प्यार देती हैं। हम उनको कभी नहीं भूल सकते।

 

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों My Teacher Par Essay in Hindi article आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

इस लेख के माध्यम से हमने My Teacher Par Nibandh |  Essay on My Teacher in Hindi का वर्णन किया है और आप यह निबंध नीचे दिए गए विषयों पर भी इस्तेमाल कर सकते है।

my teacher nibandh
teacher par essay
teacher par nibandh

Leave a Comment

Your email address will not be published.