इंदिरा गांधी पर निबंध- Essay on Indira Gandhi in Hindi

In this article, we are providing information about Indira Gandhi in Hindi- Short Essay on Indira Gandhi in Hindi Language. इंदिरा गांधी पर निबंध

इंदिरा गांधी पर निबंध- Essay on Indira Gandhi in Hindi

इंदिरा गाँधी भारत की सबसे पहली और अब तक की एकमात्र महिला प्रधानमंत्री रही हैं।यह राजनीति में बहुत ही कौशल थी और पारदर्शिता रखती थी। इनका जन्म 19 नवंबर, 1917 को इलाहबाद के एक संपन्न परिवार में हुआ था जिसका हर व्यक्ति राजनीति से जुड़ा हुआ था। इंदिरा के पिता का नाम जवाहरलाल नेहरु और माता का नाम कमला नेहरू था। बचपन से ही इंदिरा पर राजनीति का काफी प्रभाव पड़ा था। इन्होंने अपनी वानर सेना बनाई थी जिसने गाँधी जी के असहयोग आंदोलन में अहम भूमिका निभाई थी।

निजी जीवन– इंदिरा गाँधी की 1941 में फिरोज गाँधी से शादी कर दी गई थी और फिर इनके संजय और राजीव दो पुत्र हुए थे।

शिक्षा ( Indira Gandhi Education )– स्कूली शिक्षा इलाहबाद से पूरी करने के बाद उन्होंने शान्तिनिकेतन में रविंद्रनाथ टैगोर द्वारा निर्मित विद्या भारतीय विश्वविद्यालय में प्रवेश लिया और वहीं रविंद्रनाथ टैगोर ने उन्हें प्रियदर्शनी की उपाधि दी और तभी से वह इंदिरा प्रियदर्शनी गाँधी के नाम से जाने जानी लगी। उच्च स्तर की पढ़ाई करने के लिए वह विदेश चली गई और वहाँ उन्होंने ऑक्सफर्ड युनीवर्स्टी से पढ़ाई की और 1941 में भारत लौट आई। यहाँ आकर वह स्वतंत्रता संग्राम से जुड़ गई। 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन में शामिल होने के कारण उन्हें जेल की सजा भी हुई थी।

राजनैतिक जीवन ( Political life of Indira Gandhi in Hindi )- शुरूआत में इंदिरा अपने पिता जो कि भारत के प्रथम प्रधानमंत्री थे उनकी निजी सलाहकार रही लेकिन 1964 में पिता की मृत्यु के बाद वह राज्य सभा कू सदस्य बन गई थी। वह लाल बहादुर शास्त्री की सलाहकार रही लेकिन 1966 में शास्त्री जी की मृत्यु को बाद सभी कांग्रेस अध्यक्ष ने इंदिरा को प्रधानमंत्री बनाने का निर्णय लिया। 1966-1977 तक लगातार तीन पारी इंदिरा गाँधी प्रधानमंत्री पद के लिए चुनी गई थी। 1978-1980 तक वह सत्ता से बाहर रही और कड़ी मेहनत के बाद वह 1981 में फिर से प्रधानमंत्री बनी। उन्होंने बड़ी ही सुझ बुझ से भारत पाक युद्ध में पाक को हराया था।

मृत्यु ( Indira Gandhi Death )- 1984 में पंजाब में अलगाववादियों से मतभेद के चलते इंदिरा को उनके ही दो अंगरक्षकोम ने गोलियों से छलनि कर दिया था। 31 अक्तूबर, 1984 को इंदिरा की मृत्यु हो गई
थी।

इंदिरा गाँधी की राजनैतिक छवि भारत के साथ-साथ विदेशों में भी प्रसिद्ध थी। यह एक प्रतिभाशाली महिला थी और इन्हें लौह स्त्री के नाम से भी जाना जाता था। इनके अच्छे कामों के लिए इन्हें 1971 में भारत रत्न से भी सम्मानित किया गया था। यह सुदृढ़ विचारों वाली महिला थी।

#indira gandhi essay in hindi #lines on indira gandhi in hindi

Essay on Mahatma Gandhi in Hindi- राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी पर निबंध

APJ Abdul Kalam Essay in Hindi- ए.पी.जे. अब्दुल कलाम पर निबंध

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Essay on Indira Gandhi in Hindi (Article)आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Leave a Comment

Your email address will not be published.