भारतीय विरासत पर निबंध-Essay on Indian Heritage in Hindi

In this article, we are providing an Essay on Indian Heritage in Hindi भारतीय विरासत पर निबंध | Nibandh। Essay in 200, 300, 500 words For Class 7,8,9,10,11,12 Students. Speech on Indian Heritage & bhartiya virasat par Nibandh

भारतीय विरासत पर निबंध-Essay on Indian Heritage in Hindi

भूमिका   

भारत जो पूरी दुनिया में अपनी भारतीय विरासत और भारतीय कलाकारी के लिए प्रसिद्ध है जिसे पूरी दुनिया एक  अनोखी नजर से देखाती है।

भारत पूरे विश्व में सक्तिसाली देसो में से सातवें स्थान पर आता है,भारत में हर जाति के लोग रहते हैं और यहां पर 1700 से  भी अधिक भाषाएं बोली जाती और समझी जाती हैं ।भारत एक हिंदू राष्ट्रीय है जो पूरे विश्व को अपना साथी मानकर चलता है ।

भारत का रहन, सहन ,खान की हर चीज बहुत ही अनोखे अंदाज में है।जैसे कि भारत में पेड़ ,नदी ,देवी देवता आदि हर चीज पूजनीय है ।कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक भारतीय विरासत फैली हुई है।कहीं भी देखेंगे आप बहुत सी अद्भुत चीजें देखने को मिलेंगे और यह सिर्फ भारत में ही संभव है।

भारतीय विरासत क्या है: 

भारतीय विरासत एक तरह से सांस्कृतिक विकास है और यह एक ऐतिहासिक प्रक्रिया है जो कभी नहीं रुकने वाली। जो संस्कृति हमें बरसों पहले हमारे पूर्वजों से प्राप्त हुई है उसे हम भारतीय विरासत या भारतीय संस्कृति कहते हैं। भारतीय विरासत में ताजमहल ,दिलवाड़ा का जैन मंदिर ,निजामुद्दीन औलिया की दरबार ,अमृतसर का स्वर्ण मंदिर ,कन्याकुमारी का मंदिर यह सब सांस्कृतिक और भारतीय विरासत के उदाहरण है

भारतीय विरासत के प्रकार:

भारतीय विरासत के मुख्य रूप से तीन प्रकार है-

1.Build heritage: जैसे की इमारतें।

2.Natural environment: जैसे कि ग्रामीण लैंडस्केप, आदि।

  1. Cultural heritage related to artifacts: जैसे की किताबें दस्तावेज चित्रकला आदि.

भारतीय विरासत का महत्व

भारतीय विरासत के द्वारा हमारे भारत में नई-नई संस्कृतियों को जन्म दिया गया और आर्थिक लाभ में भारतीय विरासत ने सांस्कृतिक विरासत द्वारा इतिहास और नवाब के साथ व्यापक स्तर पर रोजगार ,सूजन ,हस्तशिल्प,कुटीर उद्योग को दिया गया बढ़ावा।

1.भारतीय विरासत में सारे धर्म के लोग:

भारतीय विरासत में हिंदू ,सिख, मुस्लिम  और जैन धर्म जीते जाते सबूत है ।ऐसा भारत का भाईचारा है।भारतीय विरासत में विश्व को बहुत से महावीर दिए हैं । जैसे कि महावीर स्वामी ,गुरु नानक ,गौतम बुद्ध ,राम कृष्ण जैसे हमारे पूर्वजों और उनकी शिक्षाओं द्वारा हमें जीवन का अर्थ और महत्व समझने को मिलता है जोकि मानव को मानव से जुड़े रखने का कार्य करता है। 

2.भारतीय विरासत की धार्मिक किताबें एवं ग्रंथ :

जहां बात आती है धार्मिक किताबों की और ग्रंथों की उसने सबसे पहले नाम आता है गीता, वेद ,गुरु ग्रंथ साहेब ,उपनिषद यह सब धार्मिक किताबें हमको जीवन का मार्गदर्शन देती है और  जीवन जीने के तरीके , मकसद, लक्ष्य ,दया ,कर्म ,धर्म हर चीज हमको बहुत विस्तार से बताती है।भारतीयों की नैतिक मूल्यों को बढ़ाती है।

3.भारतीय विरासत के त्यौहार:

जहां बात भारतीय विरासत की हो रहे हो वहां पर भारत के त्योहारों का नाम ना आए ऐसा हो ही नहीं सकता है भारत में हर वर्ष कितने त्यौहार मनाए जाते हैं भारत को त्योहारों का देश कहां जाता हैं जैसे कि स्वतंत्रता दिवस ,गणतंत्र दिवस ,गांधी जयंती यह हमारे राष्ट्रीय त्योहार है इसके अलावा होली, दीपावली ,गणेश चतुर्थी, क्रिसमस यह हमारे भारत के दो प्रमुख त्योहार है । जो कि हर कोई नागरिक बड़े प्रेम और उत्साह से मनाते है

4.आयुर्वेद और योग:

भारतीय विरासत की  बात हो रही हो वहां आयुर्वेद और योग की बात ना हो ऐसा भला कैसे हो सकता है ।भारत आयुर्वेद एवं योग का विश्व गुरु है स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से योग आज के वैज्ञानिक युग में बहुत तरक्की कर रहा है और हर एक मनुष्य के लिए बहुत कारगर साबित हो रहा है अगर हम प्रतिदिन योग को करते हैं तो इससे हमारे स्वस्थ रहने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं।

5.भारतीय विरासत लोकनृत्यों:

भारतीय विरासत में नौटंकी, घूमर ,गरबा, गिद्दा, भांगड़ा, अत्यंत लोकप्रिय हैं।

6.भारतीय विरासत ताजमहल:

भारतीय विरासत में ताजमहल भारत के लिए गर्व की बात है क्योंकि ताजमहल विश्व में सातवें अजूबे में शामिल किया गया है।

7.भारतीय विरासत के ऐतिहासिक स्थल:

भारतीय विरासत में बहुत सारे ऐतिहासिक स्थल हैं

जैसे कि नालंदा ,राजगीर ,बोधगया ,कुरुक्षेत्र ,मथुरा वाराणसी ,प्रयागराज ,हरिद्वार ,अयोध्या, दिल्ली ,सारनाथ ,कोलकाता, उड़ीसा, अत्यंत आदि स्थानों स्थानों का धार्मिक एवं ऐतिहासिक महत्व है दक्षिण भारत के मंदिर भारतीय विरासत के लिए गौरव हैं।

निष्कर्ष :

भारतीय विरासत जहां बात की जाए यह बहुत ही ज्यादा फैली हुई है हर एक क्षेत्र में भारतीय विरासत का नाम है फिर चाहे बात खान पान रहन सहन बोली नृत्य दवाइयों, धार्मिक स्थल, धार्मिक ग्रंथ ,या फिर शहरों की हो भारतीय विरासत को देखने के लिए लाखों करोड़ों की संख्या में हर वर्ष विदेशी भारत में आते हैं और आनंद उठाते हैं भारतीय विरासत (Indian heritage) का पूरे विश्व में भारतीय विरासत व भारतीय संस्कृति अलग ही वर्चस्व है।

Indian Culture Essay in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Essay on Indian Heritage in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *