छठ पूजा पर निबंध- Essay on Chhath Puja in Hindi

In this article, we are providing information about Chhath Puja in Hindi- Essay on Chhath Puja in Hindi Language. छठ पूजा पर निबंध

छठ पूजा पर निबंध- Essay on Chhath Puja in Hindi

भारत पर्वों का देश है और यहाँ पर सभी त्योहार बड़ी धूमधाम से मनाए जाते हैं। छठ पूजा हिंदुओं के प्रमुख त्योहारों में से एक है। मुख्य रूप से यह त्योहार बिहार में मनाया जाता है लेकिन धीरे यह भारत के सभी हिस्सों में मनाया जाने लगा है और इसके अलावा इसे विदेशों में भी मनाया जाता है। यह त्योहार कार्तीक माह के शुक्ल पक्ष की षष्ठी को विशेष रूप से मनाया जाता है। यर चार दिन तक चलने वाला त्योहार है जिसकी शुरूआत चतुर्थी से होती है और सप्तमी को इसका अंतिम दिन होता है। यह त्योहार सूर्य देव से जुड़ा हुआ है। इस पर्व पर महिलाएँ पति की लंबी आयु और संतान सुख की प्राप्ती के लिए व्रत रखती है।

इस त्योहार से जुड़ी बहुत सी प्राचीन कथाएँ है जिनमें से कोई रामायण काल की है तो कोई महाभारत काल की। इस पर्व की तैयारी दिवाली के बाद ही बड़े उत्साह से कर दी जाती है। छठ पूजा के पहले दिन महिलाएँ चने की दाल, लोकी की सब्जी और रोटी आदि खाती है। दुसरे दिन वह रात को सिर्फ गुड़ की खीर खाती है जिसे खरना कहते हैं। तीसरे दिन यानि कि षष्ठी के दिन वह निर्जला व्रत रखती है और अपनी गुँजाईश के अनुसार 11, 21 या 51 फलों का प्रसाद बाँस के डालिया में बाँधकर अपने पति या बेटे को दे देती है और नदी की तरफ चल पड़ती है। जाते जाते रास्ते में महिलाएँ छठी माता के गीत गाती हैं। नदी पर पहुँचक पंडित से पूजा करवाकर शाम को कच्चे दुध से डुबते हुए सूर्य को अर्ध्य देती हैं। अगले दिन उदय होते हुए सूर्य को भी कच्चे दुध से अर्ध्य दिया जाता है और फिर वह अपना व्रत तोड़ती है। छठ पूजा के बाद सभी लोग बहुत खुश नजर आते हैं और वहाँ पर दिवाली जैसा माहोल्ल होता है।

मकर संक्रांति पर निबंध- Makar Sankranti Essay in Hindi

Essay on Holi in Hindi- होली पर निबंध

ओणम पर निबंध- Essay on Onam in Hindi

गणेश चतुर्थी पर निबंध- Essay on Ganesh Chaturthi in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Essay on Chhath Puja in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

4 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *