प्रदूषण पर भाषण- Speech on Pollution in Hindi

In this article, we are providing information about Pollution in Hindi. Speech on Pollution in Hindi Language- प्रदूषण पर भाषण, स्पीच, Pradushan Par Bhashan.

प्रदूषण पर भाषण- Speech on Pollution in Hindi

आदरणीय प्रधानाचार्य जी, समस्त अध्यापक गण एवं मेरे प्यारे सहपाठियों को नमस्कार। मेरा नाम कुनाल है और मैं कक्षा दँसवी का छात्र हूँ। मैं आज आप सबके साथ विश्व की सबसे बड़ी समस्या प्रदुषण पर अपने विचार व्यक्त करना चाहता हूँ।

आज को समय में हम सभी एक ऐसे पर्यायवरण में रह रहे हैं जो कि पूर्ण रुप से दुषित है और बढ़ते हुए प्रदुषण का सबसे बड़ा कारण हम मानव और मानवीय गतिविधियाँ है। किसी भी चीज में किसी भी तरह का भौतिक या रासायनिक बदलाव प्रदुषण कहलाता है। प्रदुषण चार प्रकार का होता है वायु प्रदुषण, जल प्रदुषण, मृदा प्रदुषण और ध्वनि प्रदुषण। हमारे लिए वायु, जल और मृदा तीनों ही अत्यंत आवश्यक है और तीनों को ही हम दुषित करते जा रहे है।

मनुष्य अपने आराम और प्रगति में इतना लीन हो गया है कि वह वातावरण को दुषित कर अप्रत्यक्ष रूप से खुद को हानि पहुँचाता जा रहा है। वह धन के पीछे भागता भागता जान बुझ कर ऐसे कार्य करता है जिससे प्रदुषण में वृद्धि होती है। उद्योग प्रदुषण का सबसे बड़ा कारण है। उनसे निकलने वाला धुआँ वायु को दुषित करता है, मशीनों की आवाज से ध्वनि प्रदुषण होता है और रसायनों के मिट्टी और पानी में मिलने से जल और मृदा प्रदुषण होता है। यातायात के साधन वायु और ध्वनि प्रदुषण को बढ़ावा देते है।

आज मनुष्य अपनी कल करतुतों के कारण उत्पन्न हुए प्रदुषण की वजह से बहुत सी समस्याओं का सामना कर रहा है। आज न तो हमारे पास साँस लेने के लिए शुद्ध हवा है और न ही पीने के लिए स्वच्छ पानी है। बढ़ते प्रदुषण से जलवायु परिवर्तन और ग्लोबल वार्मिंग जैसी समस्याएँ उत्पन्न हो रही है। फसलों के लिए अनुकुल वातावरण नहीं मिल रहा है जिससे की भोजन की भी कमी है। मिट्टी भी दुषित होने के कारण अपनी ऊपजाऊ शक्ति खो रही है। यदि प्रदुषण निरंतर इसी गति से बढ़ता रहा तो पृथ्वी पर जीवन असंभव हो जाऐगा और यह गृह भी अन्य गृहों की तरह बिना जीवन का हो जाऐगा।

प्रदुषण एक वैश्विक स्तर की समस्या है जिसे पूरे विश्व के लोगों के द्वारा गंभीरता से लिया जाना चाहिए। प्रदुषण को खत्म करने की शुरूआत हर व्यक्ति को अपने नीजी स्तर से करनी चाहिए। हमें ऐसा कोई भी कार्य नहीं करना चाहिए जिससे की हमारा वातावरण दुषित हो। हमें खुले में कचरा नहीं फेंकना चाहिए और नीजी वाहनों की जगह सार्वजनिक वाहनों का प्रयोग करना चाहिए। वृक्ष हमारे सबसे अच्छे मित्र होते हैं और प्रदुषण को भी रोकने में सहायक है। हमें अधिक से अधिक वृक्ष लगाने चाहिए। उद्योगों को नदियों से दुर लगाना चाहिए। पूजा के नाम पर भी पानी में राख आदि नहीं डालनी
चाहिए।

हमें प्रदुषण की समस्या को कम करने के उचित प्रयास करने चाहिए और दुसरे लोगों को भी इसके प्रति जागरूक करना चाहिए। हमें प्रगति बिना पर्यायवरण को हानि पहुँचाओ करनी चाहिए ताकि यह आने वाली पीढ़ी के लिए भी सरंक्षित रह सके।

मैं आशा करता हूँ कि आप सभी भी पृथ्वी को प्रदुषण मुक्त गृह बनाने में सहयोग देंगे और अपने वातावरण को स्वच्छ रखेंगे।

धन्यवाद।

# Pollution Speech in Hindi # Speech on Enviromental Pollution in Hindi

महिला सशक्तिकरण पर भाषण- Speech on Women Empowerment in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Speech on Pollution in Hindi ( Article ) आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *