पोंगल पर निबंध- Pongal Essay in Hindi

In this article, we are providing information about Pongal Festival in Hindi- Pongal Essay in Hindi Language. पोंगल पर निबंध- Short Essay on Pongal in Hindi for students.

पोंगल पर निबंध- Pongal Essay in Hindi

भारत में सभी त्योहार बड़ी धूमधाम से मनाए जाते हैं। हर राज्य के कुछ अपने त्योहार भी है। पोंगल तमिलनाडु का एक मुख्य त्योहार जो कि बड़ी खुशी के साथ मनाया जाता है। यह त्योहार फसलों के पक कर तैयार होने की खुशी में मनाया जाता है और इस दिन सभी किसान बहुत ही खुश और संपन्न महसूस करते हैं। पोंगल तमिल हिंदुओं का त्योहार है। भारत के अलावा विदेशों में रहने वाले तमिल भी पोंगल को बड़े उत्साह से मनाते हैं। इस त्योहार को पोंगल इसलिए कहा जाता है क्योंकि सूर्य को भोग लगाए जाने वाले प्रसाद को पोंगल कहते हैं। यह चार दिन तक मनाया जाने वाला त्योहार है। यह हर साल जनवरी में मनाया जाता है। इस समय धान की फसल पक कर तैयार हो जाती है।

पोंगल के प्रथम दिन को भोंगी पोंगल कहते है और इस दिन वर्षा कै देवता इंद्र देव की पूजा की जाती है क्योंकि माना जाता है कि उनके बिना फसल अच्छी नहीं हौ सकती। इस दिन लोग घरों से पुराने कपड़े और कूड़ा आदि निकालकर एकत्रित करते हैं और उसे जलाते हैं। उनका मानना है कि वह ऐसे बुराई को खत्म कर रहे हैं।

पोंगल के दुसरे दिन को सुर्य पोंगल कहते है और इस दिन सूर्य देवता की पूजा की जाती है क्योंकि वह भी फसल की पैदावार में अहम भूमिका निभाते हैं। इस दिन चावल और गुड़ की खीर बनाकर सूर्य देवता को भोग लगाया जाता है।
पोंगल के तीसरे दिन को मट्टु पोंगल कहते है और इस दिन खेती में प्रयोग होने वाले मवेशियों की पूजा की जाती है। इस दिन बैल गाय आदि कौ नहलाया जाता है और तिलक आदि लगाकर तैयार किया जाता है। उनके गले में फूलों की माला पहनाकर उन्हें अच्छे पकवान खिलाए जाते है।

पोंगल के चौथे दिन को तिरूवल्लुर कहते हैं और इस दिन कन्या की पूजा की जाती है। लोग अपने घर के मुख्य दरवाजे पर रंगोली बनाते है। घर को आम और नारियल के पतों से सजाया जाता है। लोग सामूहिक भोजन का आयोजन करते है और पोंगल बनाकर रिश्तेदारों के यहाँ भी भेजते हैं।

इस दिन पूरा तमिलनाडु उमंग की लहरों में डूबा होता है। पोंगल के आखिरी दिन बैलों की लड़ाई कराई जाती है जो कि बहुत ही आकर्षक होती है। यह त्योहार समृद्धि और स्पन्नता का प्रतीक है।

ओणम पर निबंध- Essay on Onam in Hindi

Essay on Diwali in Hindi- दिवाली पर निबंध

Essay on Holi in Hindi- होली पर निबंध

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Pongal Essay in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *