भिक्षावृत्ति पर निबंध- Essay on Beggary Problem in Hindi

In this article, we are providing information about Beggary Problem in Hindi- Essay on Beggary Problem in Hindi Language. भीक्षावृति की समस्या पर निबंध, bhikshavriti ki samasya par nibandh.

भिक्षावृत्ति पर निबंध- Essay on Beggary Problem in Hindi

प्राचीन काल से ही हमारे देश में भीक्षावृति की प्रथा चलती आ रही है जिसमें साधु संत लोगों से भीक्षा माँगते थे और गृहस्थ लोग उन्हें प्रसन्न होकर भीक्षा देते थे। उस समय में भीक्षा देने को पुण्य का काम माना जाता था लेकिन समय के साथ साथ इस भीक्षावृति की प्रथा ने समस्या का रूप ले लिया और यह भीख के रूप में आज भी हमारे समाज में प्रचलित है। भीख माँगना तुच्छ काम है जिसमें व्यक्ति का आत्मसम्मान नष्ट हो जाता है लेकिन अपनी भूख मिटाने और आजीविका न कमाने के कारण व्यक्ति मजबूर होकर भीक्षा माँगता है लेकिन कुछ लोग अपने आलस्य और आराम के लिए भी भीक्षा माँगते है क्योंकि उन्हें भीक्षा माँगना कमाने से अधिक सरल लगता है। ऐसे लोगों की वजह ये ही भीक्षावृति समस्या बन गई है क्योंकि यह लोग अपंगों का स्वाग भरके भीक्षा माँगते हैं और भिक्षा में मिलने वालो पैसों से नशा करना और अन्य अनैतिक कार्यों को अंजाम देते हैं।

भीक्षावृति ने हमारे देश की प्रगति को लकवा मार दिया है और विदेशों में भी हीन भावना का शिकार बनाया है। हमारे देश में जरूरतमंद भिक्षुओं से ज्यादा तो आलस्य से भरपूर भिक्षुक है। सरकार को चाहिए कि सभी भिखारियों की जाँच की जाए और उनमें से जो स्वस्थ हो उन्हें किसी कार्य में लगा दिया जाए और जो अपंग है उनके रहने और खाने की व्यवस्था सरकार द्वारा की जाए। हमारे देश में बच्चे भी भीख माँगते हुए दिखाई देते है और यह वह बच्चे है जो किसी गिरोह द्वारा अपरहण कर लिए जाते हैं। पुलिस को बच्चों को उन गिरोहों की चुंगलो से छुड़वाना चाहिए और उन्हें एक उज्जवल भविष्य देना चाहिए।

भीक्षावृति की समस्या को खत्म करने का एकमात्र तरीका है कि भीक्षा को दंडनीय अपराध घोषित कर दिया जाए।

गरीबी पर निबंध- Poverty Essay in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Essay on Beggary Problem in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *