गरीबी पर निबंध- Poverty Essay in Hindi

In this article, we are providing information about Poverty in Hindi- Poverty Essay in Hindi Language. गरीबी पर निबंध- Essay on Garibi in Hindi.

गरीबी पर निबंध- Poverty Essay in Hindi

गरीबी आज के समय की सबसे बड़ी समस्या बन चुकी है। बहुत से लोग गरीबी रेखा से नीचे रहते हैं। उन लोगों को गरीबी में कहा जा सकता है जो अपने और अपने परिवार के लिए मुलभूत चीजे जैसे कि रोटी कपड़ा और मकान भी नहीं उपलब्ध करवा पाते हैं। जब तक देश गरीब रहेगा वह प्रगति नहीं कर सकता है। गरीब आज के समय में और भी ज्यादा गरीब होते जा रहे है क्योंकि अमीर उन तक पैसा नहीं पहुँचने देते हैं।

गरीबी के कारण- देश में गरीबी बढने का सबसे बड़ा कारण जनसंख्या में वृद्धि है। बढ़ती हुई जनसंख्या की वजह से रोजगार में कमी आई है और लोगों को रोजगार के साधन कम मिल रहे हैं जिसकी वजह से वह अपने लिए दो वक्त सी रोटी कमाने में भी असमर्थ है। असाक्षरता के कारण भी गरीबी बढ़ती है क्योंकि लोग सरकार द्वारा मिलने वाली सुविधाओं से अंजान रह जाते हैं। भ्रष्ट नेताओं के कारण भी गरीब और भी ज्यादा गरीब होते जा रहे है क्योंकि वो उनको मिलने वाली सुविधाओं को खुद प्रयोग कर लेते हैं और उन तक पहुँचने नहीं देते हैं।

गरीबी से उत्पन्न होने वाली समस्याएँ– गरीबी अपराधों को जन्म देती है क्योंकि भूखा इंसान भूख मिटाने के लिए गलत राह भी चुन सकता है। गरीबी के कारण बहुत से लोग चोरी और डकैती की राह पर चल पड़ते है। कुछ लोग पेट भरने के लिए आंतकवादी तक बन जाते हैं। गरीबी देशद्रोहियों को बढ़ावा देती है। गरीबी की वजह से उत्पन्न होने वाली सबसे गंभीर समस्या बाल मजदुरी की है क्योंकि घर चलाने के लिए घर के हर सदस्य को कार्य करना पड़ता है तभी जाकर उन्हें दो वक्त की रोटी मिल पाती है।

सरकार ने गरीबों को सस्ते दरों पर खाने पीने की चीजें उपलब्ध कराई है। उन्हें डीपू से तेल चावल गेहुँ दाल आदि सस्ते दाम में मिलते है जिससे कि वो अपना और अपने परिवार का गुजारा चला सकें।

गरीबी विकास में सबसे बड़ी रूकावट है और आज के समय में सोचने का सबसे बड़ा मुद्दा भी है। मृत्यु दर में वृद्धि भी गरीबी के कारण ही होती है क्योंकि बहुत से लोगों को भोजन नहीं मिल पाता और वह कुपोषण का शिकार हो जाते हैं और उनकी मृत्यु हो जाती है। गरीबी भरा जीवन यापन करना बहुत ही मुश्किल है। हमें और सरकार को चाहिए कि देश की गरीबी दुर करने के लिए कुछ कदम उठाऐं। हमें चाहिए कि हम अपने आसपास के गरीब बच्चों को पुस्तकें और खाने का सामान दें। सरकार को भी उन बच्चों के विकास के लिए स्कूल आदि खोलने चाहिए। हमारा एक ही मकसद होना चाहिए कि गरीबी को दुर भगाना है।

#Essay on Poverty in Hindi

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ निबंध- Beti Bachao Beti Padhao Essay in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Poverty Essay in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *