गाँधी जयंती पर निबंध- Gandhi Jayanti Essay in Hindi

In this article, we are providing information about Gandhi Jayanti in Hindi- Gandhi Jayanti Essay in Hindi Language. गाँधी जयंती पर निबंध- 2 October Gandhi Jayanti in Hindi.

गाँधी जयंती पर निबंध- Gandhi Jayanti Essay in Hindi

गाँधी जयंती को भारत के राष्ट्रपिता मोहन दास कर्मचंद गाँधी जी के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। यह प्रत्येक वर्ष 2 अक्तूबर को मनाया जाता है। इस दिन महात्मा गाँधी जी जो कि हमारे देश के सबसे बड़े नेता रहे है उन्हें श्रदांजली अर्पित की जाती है। इस दिन भारत में राष्ट्रीय अवकाश रहता है। सभी सरकारी और गैर सरकारी कार्यालय बंद रहते हैं। स्कूलों और कॉलेजों में बचिचे महात्मा गाँधी जी के जीवन के विषय में बताते है और विभिन्न कार्यक्रम का भी आयोजन करते हैं। महात्मा गाँधी जी अंहिसा पसंद व्यक्ति थे और सादगी भरा जीवन व्यतीत करना अच्छा लगता था। उन्होंने हमेशा अहिंसा और सत्य का ही साथ दिया था। 15 जुन 2007 को संयुक्त राष्ट्र महासभा के द्वारा उनके जन्मदिन को अंतराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रूप में मनाए जाने की घोषणा की गई थी। गाँधी जी को धुम्रपान और मद्यपान से सख्त नफरत थी जिसकी वजह से गाँधी जयंती के दिन शराब बेचना और खरीदना पूरी तरह से बंद होता है।

भारत में गाँधी जयंती एक राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाया जाता है और यह उनकी स्मृति को याद रखने के लिए भी मनाया जाता है। इस दिन लोग उनकी स्मृति पर फूल माला आदि चढ़ाकर उन्हें श्रदांजली अर्पित करते है और साथ ही उनके प्रिय भजन रघुपति राघव राजा राम की कीर्तन ध्वनि सुनने को मिलती है। इस दिन चरखे के कार्यक्रम का भी आयोजन किया जाता है क्योंकि गाँधी जी स्वयं चरखा चलाकर अपने कपड़े बुनते थे।

इस दिन सभी भारत के महानतम नेता मोहनदास कर्मचंद गाँधी जी को याद करते हैं और उनके जीवन से प्रेरणा भी लेते हैं। गाँधी जी ने हमें सादा जीवन और उच्च विचार रखने की प्रेरणा दी है। उनका कहना था कि व्यक्ति जैसे विचार रखता है वैसा ही बन जाता है। वह लोगों को अहिंसा के पथ पर और हमेशा सच्चाई का साथ देने की प्रेरणा देते है।

गाँधी जयंती पर टीवी आदि पर गाँधी जी के जीवन के बारे में दर्शाया जाता है। यह दिखाया जाती है कि उन्होंने कौन कौन से आंदोलन किए और किस तरह से देश को आजादी दिलाई थी। गाँधी जयंती को विदेशों में भी बहुत से लोग मनाते हैं। गाँधी जयंती के दिन गाँधी जी की समाधी पर भी बहुत भीड़ रहती है। बहुत से लोग वहाँ जाकर फूल चढ़ाते है और उनके सिखाए सच्चाई के मार्ग पर चलने का निर्णय लेते हैं।

# Essay on Gandhi Jayanti in Hindi

10 lines on Mahatma Gandhi in Hindi Language

Essay on Mahatma Gandhi in Hindi- राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी पर निबंध

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Gandhi Jayanti Essay in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Loading...

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *