Bhartiya Sainik Essay in Hindi- भारतीय सैनिक पर निबंध

In this article, we are providing information About Indian Soldiers in Hindi. Bhartiya Sainik Essay in Hindi. भारतीय सैनिक पर निबंध (Bhartiya Jawan par Nibandh), भारतीय सेना-सैनिकों का एक श्रेष्ठतम रूप, भारतीय सैनिक साहस और वीरता

Bhartiya Sainik Essay in Hindi- भारतीय सैनिक पर निबंध

सैनिक होना बड़े गर्व और गौरव की बात होती है। वर्तमान में भी भारतीय सैनिक की वीरता और त्यागमय जीवन की श्रेष्ठता या संसार मानता है। भारतीय सैनिकों के लिए गौरव की बात तो यह है कि आज सारे विश्व में यदि किसी देश के सैनिकों को पूरी तरह समझा जाता है, तो वे भारत के सैनिक ही हैं।

संयुक्त राष्ट्र संघ की सेना के अंतर्गत कई बार इसकी परीक्षा और समीक्षा हो चुकी है। संयुक्त राष्ट्र संघ ने कोरिया, वियतनाम आदि कई स्थानों पर शांति-स्थापना और रक्षा के लिए पूर्ण विश्वास के साथ भारतीय सेना को भेजा। कहीं भी भारतीय सेना ने उनके विश्वास को ठेस नहीं पहुँचने दी। सर्वत्र अपनी विश्वसनीयता व अक्षण्णता बनाए रखी।

स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद भारतीय सेना को कई अवसरों पर अपने देश की आन की खातिर संघर्ष करना पड़ा। सन् 1962 में चीन के साथ उत्तर-पूर्वी सीमा पर अचानक संघर्ष हो जाने के कारण भारतीय सेना को चाहे पीछे हटना पदा पर समयोचित शस्त्रों के न रहने पर भी उसने अपना मस्तक नीचा नहीं होने दिया। सन् 1965 में पाकिस्तान के अचानक हमलावर होने पर भारतीय सैनिकों ने खेमकरण के इलाके को अमेरिकी टैंकों का कब्रिस्तान बना दिया था। वे लाहौर और स्यालकोट तक शत्रु सेना को पछाड़कर आए थे। सन् 1971 में बंग्लादेश बनवाना भारतीय सेना का ही एक ऐतिहासिक कारनामा है। इस प्रकार घर-परिवार से दूर रहते हुए, अपने सीमित साधनों के साथ भारतीय सैनिक अपने गौरव की रक्षा डटकर कर रहा है। जितनी सविधाएँ उसे मिलनी चाहिए, वे सब निश्चय ही उसे नहीं मिल पा रहीं। इस कारण वह यदाकदा असंतुष्ट भी रहता है। आज के नवयुवक शायद इसी कारण सेना को अपना कैरियर नहीं बनाना चाहते।

भारतीय सैनिक का उच्च मनोबल बना रह सके, इसके लिए सरकार को अन्य मदों में से धन काटकर, भ्रष्टाचार को दूर करके-जैसे भी संभव हो सैनिक जीवन की हर आवश्यकता पूरी करनी चाहिए।

# Essay on Indian Army Soldiers in Hindi

भारतीय सेना पर निबंध- Essay on Indian Army in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Bhartiya Sainik Essay in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *