आवश्यकता आविष्कार की जननी है- Paragraph on Necessity is the mother of invention in Hindi

आवश्यकता आविष्कार की जननी है/ short paragraph on Necessity is the mother of invention in Hindi पर लघु अनुच्छेद in 150 words.

लघु अनुच्छेद-आवश्यकता आविष्कार की जननी है- Paragraph on Necessity is the mother of invention in Hindi

आवश्यकता अनेक आविष्कारों को जन्म देती है। शारीरिक तथा बौद्धिक दोनों प्रकार के बल का उपयोग करके मनुष्य ने अपने लिए अनेक सुविधाएँ जुटाई हैं। इन्हीं आविष्कारों के बल पर मनुष्य आज सुख-सुविधा के इले में झूल रहा है। जब उसने अनुभव किया कि बैलगाड़ी की यात्रा न सुविधाजनक है और न ही इससे समय की बचत होती है। तो उसने तेज गति से चलने वाले वाहनों का आविष्कार किया। रेल, कार तथा वायुयान आदि उसकी आवश्यकता की पूर्ति करने वाले साधन हैं। बिजली के अनेक चमत्कार, टेलीफ़ोन आदि भी मनुष्य की आवश्यकता की पूर्ति करने वाले साधन हैं। इन आविष्कारों की कोई सीमा नहीं। जैसे-जैसे मानव-जाति की आवश्यकता बढ़ती है वैसे-वैसे नए आविष्कार हमारे सामने आते हैं। मनुष्य की बुद्धि के विकास के साथ ही आविष्कारों की भी संख्या बढ़ती जाती है। अत: यह ठीक ही कहा है कि ‘आवश्यकता आविष्कार की जननी है।”

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Paragraph on Necessity is the mother of invention in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Leave a Comment

Your email address will not be published.