काला धन पर निबंध- Essay on Black Money in Hindi

In this article, we are providing Essay on Black Money in Hindi. काला/काले धन पर निबंध। Black Money in India, Kala Dhan Essay in Hindi.

काला धन पर निबंध- Essay on Black Money in Hindi

आयकर में चोरी करके या फिर अवैध तरीके से कमाया गया धन काला धन कहलाता है। वो सभी चीजें जिनका कोई हिसाब किताब नहीं होता काले धन के अंतर्गत ही आता है। अधिकतर लोग काले धन को सोने , चाँदी और जमीन आदि के रूप में ही रखते है। काले धन की जमाखोरी के कारण देश के कोष में कमी आ रही है जिससे कि देश की अर्थव्यवस्था डगमगा रही है। भारत में हर साल 1500 करोड़ से 2000 करोड़ तक काले धन के रूप में जमा होते है। काला धन जिनके पास है वो इससे प्रभावित नहीं होते बल्कि जिन लोगों के पास नहीं है और देश की अर्थव्यवस्था प्रभावित होती है। काला धन आज के समय की सबसे बड़ी समस्या बनता जा रहा है।

काले धन रिश्वत से, कर चोरी करने से इकट्ठा होता है। चुनाव पर पानी की तरह पैसा बहाया जाता है जो कि काला धन ही होता है। बाद में वही धन लोगों से कर बढ़ाकर या चीजों के दाम बढ़ाकर वसूल किया जाता है जिससे कि महंगाई बढ़ती है। काला धन तस्करी और आंतकवाद जैसी गंभीर समस्याओं को बढ़ावा देता है। देश की गरीबी में भी सबसे बड़ा योगदान काले धन का ही है। भारत में इस समय 50 प्रतिशत धन काला धन है जो कि तीव्रता से बढ़ता ही जा रहा है। काले धन का उपयोग उपभोग की वस्तुओं को खरीदने में होता है। काले धन से खरीदी गई जमीन की रजिस्टरी के पैसों की भी चोरी होती है। काले धन को बैंको में जमा नहीं किया जा सकता है। काले धन की जमाखोरी में एक छोटे से व्यापारी से लेकर बड़े बड़े नेता तक शामिल है। लालू यादव जी ने पशुपालन के चारे में घोटाला कर काला धन को इकट्ठा किया था। जिन लोगों के पास आयकर से ज्यादा उपभोग का समान होता है और पैसा होता है वह सभी काले धन की जमाखोरी में लगे होते है। काले धन की वजह से ही ड्रगस की सपलाई बढ़ रही है और भारत का युवा ड्रगस की चपेट में आता जा रहा है।

2016 में देश में काले धन की मात्रा बहुत ही ज्यादा थी जिसकी वजह से सरकार ने नोटबंदी लागू की ताकि काले धन और उनके जमाखोरो को पकड़ा जा सके। जिस किसी भी व्यक्ति के पास आय से ज्यादा धन मिलना आयकर विभाग से पुछताछ की। सरकार ने सोने चाँदी को भी सीमिक कर दिया था उससे ज्यादा जेवर मिलने पर भी लोगों को काले धन की आशंका के घेरे में लिया जाएगा। सरकार ने कर चोरी रोकने के लिए एक कर की सेवा प्रदान करी। वस्तु एवं सेवा कर यानि कि जी.एस.टी.। यह लोगों पर एक ही कर लगाता है ताकि लोगों को अलग अलग टैक्स न भरना पड़े और उन्हें असुविधा न हो। काले धन को रोकने के लिए चुनाव आयोग ने चुनाव में खर्च की जाने वाली राशि को सीमित कर दिया है।
काले धन को रोकना बहुत ही आवश्यक है क्योंकि यह देश की प्रगति में सबसे बड़ी बाधा है। देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए काले धन को देश में से हटाना होगा और हम सबको मिलकर प्रयास करना होगा।

#What is Black Money in Hindi #ब्लैक मनी- Black Mani

Essay on Mehangai in Hindi- महंगाई पर निबंध

Slogan on Corruption in Hindi- भ्रष्टाचार पर हिंदी नारे | स्लोगन

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Essay on Black Money in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *