तम्बाकू की लत- Akbar Birbal Tobacco Story in Hindi

तम्बाकू की लत- Akbar Birbal Tobacco Story in Hindi

बीरबल को तम्बाकू चबाने की आदत थी। बादशाह उन्हें कई बार यह आदत छोड़ने के लिए कह चुके थे, लेकिन बीरबल की आदत छूट ही नहीं रही थी। बीरबल को तम्बाकू की बुरी लत पड़ चुकी थी।

एक बार बादशाह बीरबल के साथ एक खेत से होकर गुजर रहे थे। उस खेत के पास ही एक तम्बाकू का खेत भी था। उस खेत की ओर इशारा करके बादशाह बीरबल से कुछ कहने ही वाले थे कि तभी उनकी नजर उस खेत की ओर बढ़ते एक गधे पर पड़ी। लेकिन खेत के अंदर घुसते ही वह गधा अचानक ठिठक गया। उसने दो-तीन बार सूघा और फिर तेजी से उस खेत से बाहर निकल गया। यह देखकर बादशाह हँसते हुए बीरबल से बोले, ‘देखा तुमने, गधे भी तम्बाकू खाना पसंद नहीं करते।’ ‘देखा हुजूर, गधे ही तम्बाकू खाना पसंद नहीं करते।’ बीरबल ने तपाक से जवाब दिया।

बादशाह को काटो तो खून नहीं। बीरबल ने अपनी बात से उनको निरुतर कर दिया था। कुछ देर बाद वे फिर बोले, ‘बात का जवाब बात से देकर तुमने मुझे लाजवाब तो कर दिया, लेकिन जो बात सच है उसे तुम नकार नहीं सकते। तम्बाकू चबाना सेहत के लिए नुकसानदायक है और यह बात तुम्हें भी माननी पड़ेगी। तुम जितनी जल्दी यह बात मान ली, उतना अच्छा है। बेहतर तो यही होगा कि तुम तम्बाकू चबाना तुरंत बंद कर दी। मैंने तुम्हारे शुभचिंतक के नाते तुम्हें नेक सलाह दी है। आगे तुम्हारी मर्जी।’

बीरबल यह तो जानते ही थे कि बादशाह की बात सही है। वे बोले, ‘बंदापरवर, मैं यह बात अच्छी तरह समझता हूँ। मैं इस – आदत को छोड़ने की भरसक कोशिश करूंगा।

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Akbar Birbal Tobacco Story in Hindi आपको अच्छी लगा तो जरूर शेयर करे

Leave a Comment

Your email address will not be published.