प्राकृतिक आपदा पर निबंध- Essay on Natural Disaster in Hindi

In this article, we are providing information about Natural Disaster in Hindi. Short Essay on Natural Disaster in Hindi Language. प्राकृतिक आपदा पर निबंध, Prakritik Aapda in Hindi Essay

प्राकृतिक आपदा पर निबंध- Essay on Natural Disaster in Hindi

भूमिका- प्राकृतिक आपदा प्रकृति के द्वारा अचानक से होने वाली दुर्घटनाओं को कहा जाता है। प्राकृतिक आपदाओं पर मनुष्य का कोई जोर नहीं है और न हीं इनके विषय में पहले से पता लगाया जा सकता है। प्राकृतिक आपदाओं के कारण मनुष्य को जान माल का नुकसान होता है। प्राकृतिक आपदाओं का हमें सामना करना चाहिए। प्राकृतिक आपदाओं के अंतर्गत भूकंप, ज्वालामुखी विस्फोट, भु संख्लन, बाढ़ आदि आते हैं।

प्राकृतिक आपदा के प्रकार ( Types of Natural Disasters in Hindi )

1. भूकंप- भूकंप एक ऐसी प्राकृतिक आपदा है जिससे भूमि के अंदर हलचल हो जाती है और बहुत ही ज्यादा हानि होती है।

2. ज्वालामुखी विस्फोट- ज्वालामुखी के विस्फोट होने से लावा निकलता है जिसमें बहुत सी हानिकारक गैसें होती है जो पर्यायवरण के लिए बहुत हानिकारक है।

3. बाढ़- किसी भी क्षेत्र में वर्षा की अधिकता के कारण पानी के स्तर में वृद्धि होना बाढ़ कहलाता है जिससे वहाँ पर रहने वाले लोगों का जीवन बहुत प्रभावित होता है।

4. भु संख्लन- किसी भी बड़े भूभाग का अपने स्थान से खिसक जाना भु संख्लन कहलाता है।

5. सुनामी- समुद्रों में तेजी से उठने वाली लहरों के कारण सुनामी आती है जिससे समुद्र के कारण रहने वाले लौगों के जीवन पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

प्रभाव- प्राकृतिक आपदा के कारण पर्यायवरण और जीवम पर बहुत ही नकारात्मक प्रभाव पड़ते है। इनके कारण जलवायु में परिवर्तन हो रहे है जिससे रितु परिवर्तन निर्धारित समय पर नहीं होता है। कहीं पर अकाल की संभावना हो जाती है तो कहीं पर बाढ़ आती है जिससे जान और माल दोनों की हानि होती है। प्राकृतिक आपदा के कारण पर्यायवरण में गर्मी और प्रदुषण की मात्रा बढ़ती जा रही है और पशु पक्षियों और वनस्पति पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है।

आपदा प्रबंधन- वैसे तो प्राकृतिक आपदाओं का पहले से पता नहीं लगाया जा सकता है लेकिन फिर भी हम इनसे बचने के लिए कुछ प्रबंध कर सकते हैं। अपने घर और दुकान आदि का बीमा करवा सकते हैं। अपने साथ हमेशा प्राथमिक चिकित्सा का सामान रखते हैं। वर्षा के समय में पानी की निकासी का उचित प्रबंध होना चाहिए और समुद्र के निकट रहने वाले लोगों को किसी और स्थान पर चले जाने चाहिए।

निष्कर्ष- प्राकृतिक आपदाओं को मनुष्य की गतिविधियों के कारण भी बढ़ावा मिला है और वह हमारे लिए विनाशकारी साबित हुई है। प्राकृतिक आपदाओं से बचने के तरीकों के बारे में बच्चों को पहले से ही सिखाया जाना चाहिए और इनसे डरने की बजाय इनका डटकर सामना करना चाहिए।

# प्राकृतिक आपदा कारण एवं निवारण पर निबंध

Essay on Earthquake in Hindi- भूकंप पर निबंध

सूखा या अकाल पर निबंध- Essay on Drought in Hindi

Essay on Tsunami in Hindi- सुनामी पर निबंध

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Essay on Natural Disaster in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *