Essay on Hockey in Hindi- हॉकी पर निबंध

In this article, we are providing an Essay on Hockey in Hindi. हॉकी पर निबंध- Essay on my favourite game Hockey in Hindi,  About Hockey in Hindi, Mera Priya Khel Hockey.

Essay on Hockey in Hindi- हॉकी पर निबंध

खेल हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण अंग है। भारत का राष्टरीय खेल हॉकी है। इस खेल में भारतीयों ने अपनी मेहनत और लगन से सिक्का जमाया है। हॉकी के खेल हरी मैदान में खेला जाता है। इसमें 11 खिलाड़ीयों की दो टीमें होती है। यह खेल हॉकी स्टीक और गेंद के साथ खेला जाता है। इसे खेलने वाले खिलाड़ीयों में मजबूती होनी चाहिए। इस खेल में दोनों टीमों को एक दुसरे के खिलाफ गोल करने होते हैं जो टीम ज्यादा गोल करती है वो जीत जाती है। हॉकी के सबसे पहले कप्तान ध्यानचंद को हॉकी का जादुगर भी कहा जाता है। वह अपनी हॉकी स्टीक से गेंद को इस तरह से नियंतरन में रखते थे मानों गेंद स्टीक से चिपक ही गई हो। उनके जैसा कप्तान अब तक कोई दूसरा नहीं हुआ है।भारतीय खिलाड़ी इस खेल में बहुत ही कौशल है। हॉकी को बहुत से देशों ने भी अपनाया है। हॉकी को मिल जुलकर ही खेला जा सकता। इससे लोगो में सहनशक्ति, मजबूती और दोस्ती की भावना उत्पन्न होती है। हॉकी के लिए खुले कपड़े,हल्के जुते पहने जाते है ।

हॉकी का इतिहास– वैसे तो हॉकी भारत का राष्टरीय खेल लेकिन इसका जन्म इंग्लैंड में हुआ था। 1921 में हॉकी की तरह का ही लेकिन बिल्कुल हॉकी जैसा नहीं एक खेल ईरान में भी खेला जाता था। ईरान से वह खेल युरानियों ने सीखा और वहा से रोम गई। जब यह खेल इंग्लैंड पहुँचा तो पता चला की वहाँ पर तो बिल्कुल हॉकी जैसा खेल 1886 से ही खेला जाता था। 1895 में इंग्लैंड और आयरलैंड के बीच पहला अंतराष्टरीय हॉकी मैच हुआ था। हॉकी की असल शुरूआत अंतराष्टरीय हॉकी महासंघ की स्थापना के बाद हुई। 1908 में हॉकी को ओल्मपिक में शामिल किया गया । 1928 में भारत ने पहली बार हॉकी में भाग लिया और स्वर्ण पदक हासिल कर हॉकी के खेल को अपना बना लिया। कई सालों तक भारत लगातार स्वर्ण पदक जीतता रहा। हॉकी में 1928-1956 तक भारत ने 6 स्वर्ण पदक ,1 सिल्वर और 1 बरोंज पदक जीता। भारत के खिलाड़ीयों को हॉकी में निपुण माना जाता है।

आज के दौर में हॉकी– धीरे धीरे लोग अब हॉकी से दुर जाते जा रहे है। उनकी पसंद समय के साथ बदलती जा रही है । लोगों के दिलों में हॉकी का स्थान क्रिकेट ने ले लिया है। हालांकि हॉकी में अब महिलाओं ने भी भाग लेना शुरू किया है। बहुत से बच्चे देश का नाम रोशन करने के लिए और हॉकी की टीम में शामिल होने के लिए बहुत मेहनत करते हैं। हॉकी देश का मान सम्मान है। हमारे देश की पहचान है। वैसे तो हर खेल का अपना ही महत्तव है।

हॉकी एक ऐसा खेल है जिसमें एकागरता का होना बहुत ही आवश्यक है। शुरू से ही भारतीय खिलाड़ी गेंद को नियंतरऩ में रखने और पास देने में बहुत कौशल है। खिलाड़ीयों में सहने ,दौड़ने और तीन घंटे लगातार मैदान में खड़े होने की शक्ति होनी चाहिए। अंत: हम सबको मिलकर अपने राष्ट्रीय खेल हॉकी को बढ़ावा देना चाहिए।

#Hockey information in hindi # Hockey Essay

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Essay on Hockey in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

क्रिकेट पर निबंध- Essay on Cricket in Hindi

Essay on Shiksha Mein Khel Ka Mahatva in Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published.