आतंकवाद पर भाषण- Speech on Terrorism in Hindi

In this article, we are providing Speech on Terrorism in Hindi Language- आतंकवाद पर भाषण, स्पीच, विद्यार्थियों के लिये आतंकवाद पर भाषण

आतंकवाद पर भाषण- Speech on Terrorism in Hindi

माननीय अतिथि महोदय, आदरणीय प्रधानाचार्य जी, समस्त अध्यापक गण एवं मेरे प्यारे सहपाठियों को नमस्कार। मेरा नाम आशिष है और मैं दँसवी कक्षा में पढ़ता हूँ। मैं आज आप सबके सामने आतंकवाद के उपर भाषण देना चाहता हूँ।

आतंतवाद आज के समय की सबसे बड़ी समस्या है जिससे एक मनुष्य दुसरे मनुष्य की जान लेने को तैयार है। आतंकवाद की वजह से पूरा विश्व विनाश की तरफ जा रहा है। आतंकवाद एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें कोई व्यक्ति या कोई संगठन आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देता है जिसका मुख्य उद्देश्य लोगों में भय उत्पन्न करना और जन जीवन और सार्वजनिक सामानों को हानि पहुँचाना है। आतंकवाद का भय लोगों के मन में इतना अधिक है कि व्यक्ति स्वंय को कहीं पर भी सुरक्षित महसूस नहीं करता है। उसे यही डर रहता है कि पता नहीं कब कोई आतंकवादी हमला हो जाए और कब उसकी जान चली जाए।

आतंकवाद को हम जैसे ही लोग बढ़ाते है क्योंकि उन्हें धर्म या जाति के नाम पर बहला फुसलाकर आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम दिया जाता है। लोग इतने बहक जाते हैं कि वह आत्महत्या विस्फोटक बम बनने के लिए भी तैयार हो जाते है। गरीबी और बेरोजगारी ने भी आतंकवाद को बढ़ावा दिया है। उन्हें आतंकवादी संगठनों के द्वारा पैसों का लालच दिया जाता है और वह अपने परिवार का पालन करने के लिए उन संगठनों का हिस्सा बन जाते हैं। आतंकवाद के लिए सबसे ज्यादा काले धन का प्रयोग किया जाता है इसलिए जहाँ पर जितना अधिक काला धन होता है वहाँ पर आतंकवाद भी उतना ही ज्यादा होता है।

आतंकवाद की घटनाओं को अक्सर भीड़ वाले क्षेत्रों में अंजाम दिया जाता है ताकि लोगों को ज्यादा से ज्यादा नुकसान पहुँचाया जा सके। आतंकवाद के कारण ही अब लोग मेलों, प्रयोजनों और अन्य किसी भीड़ वाले क्षेत्र में जाने से कतराते हैं। हालाँकि वहाँ पर सुरक्षा को पुख्ता इंतजाम किए जाते है पर फिर लोगों में आतंक का भय उन्हें वहाँ जाने नहीं देता है। आतंकवाद ने लोगों के जीवन की शांति को खत्म कर दिया है और यह हर देश को सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक रूप से कमजोर कर रहा है।

आतंकवाद को खत्म करने के बहुत से प्रयास किए जाते है जिसके लिए बहुत से देश एक साथ भी आगे आते है लेकिन आतंकवाद को पूरी तरह से खत्म करना नामुमकिन है। गरीबी और बेरोजगारी को खत्म करके आतंकवाद को कम किया जा सकता है और यदि देश से काला धन समाप्त कर दिया जाए तो आतंकवादी गतिविधियों पर काफी हद तक विराम लगेगा। 2016 में हुई नोटबंदी ने आतंकवाद पर करारा प्रहार किया है और सरकार के द्वारा आतंकवाद को खत्म करने के और भी बहुत से प्रयास किए जा रहे है। पोटा नामक एक गठबंधन भी बनाया गया है जो आतंकवादी गतिविधियों पर नियंत्रण रखता है और उन्हें खत्म करने का प्रयास करता है।

हम सबको भी देश का एक जिम्मेवार नागरिक बनना चाहिए और आतंकवादी गतिविधियों को रोकने का हर संभव प्रयास करना चाहिए। हमें लोगों को आतंकवादी गतिविधियों के प्रति जागरूक बनाना चाहिए।

धन्यवाद।

# Hindi speech on Terrorism

स्वच्छ भारत अभियान पर भाषण- Speech on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi

महिला सशक्तिकरण पर भाषण- Speech on Women Empowerment in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Speech on Terrorism in Hindi ( Article ) आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *