जल बचाओ पर भाषण- Speech on Save Water in Hindi

In this article, we are providing information about Save Water in Hindi. Speech on Save Water in Hindi Language. जल बचाओ | पानी बचाओ पर भाषण, स्पीच

जल बचाओ पर भाषण- Speech on Save Water in Hindi

माननीय अतिथि गण, आदरणीय प्रधानाचार्य जी, समस्त अध्यापक गण एवं मेरे प्यारे सहपाठियों को नमस्कार। मेरा नाम विकास है और मैं नौंवी कक्षा में पढ़ता हूँ। आज हम सब यहाँ विशॉष कार्यक्रम के लिए एकत्रित हुए है और इस अवसर पर मैं पानी जो कि हमारी मुलभूत आवश्यकता है उसे बचाने के विषय में भाषण देना चाहता हूँ।

हम सब जानते हैं कि हमारी पृथ्वी का एक तिहाई हिस्सा पानी है जिसमें से कुछ बर्फ के रूप में जमा हुआ है, कुछ नदियों और जलाशयों में भरा हुआ है। हमारे पास प्रयोग करने के लिए स्वच्छ जल केवल 0.98 प्रतिशत है जिसे भी मानव प्रतिदिन अपनी गतिविधियों से दुषित करता जा रहा है। हम पानी के बिना जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते है। हम प्रतिदिन नहाने, खाना बनाने, कपड़े धोने, साफ सफाई आदि में पानी का प्रयोग करते हैं। पानी केवल मनुष्य के लिए ही जरूरी नहीं है अपितु हमारी वनस्पति, पेड़ पौधे और पशुओं को भी पानी की आवश्यकता है।

हम धीरे धीरे पानी के महत्व को भूलते जा रहे है और उसे बर्बाद करते जा रहे हैं। हम स्वच्छ जल को दुषित करके भी उसे प्रयोग में लाने योग्य नहीं रहने दे रहे है। यदि ऐसा ही चलता रहा तो एक समय ऐसा आऐगा जब धरती पर एक बूँद भी पानी नहीं रहेगा और हम सब भूख प्यास से मर जाऐंगे और हमारी पृथ्वी बिल्कुल वीरान और बंजर हो जाऐगी।

पानी के अभाव को देखते हुए आज के समय में सबसे ज्यादा जरूरत पानी को बचाने की है और यह एक वैश्विक मुद्दा है जिसे गंभीरता से लिया जाना चाहिए। हमें लोगों को पानी के प्रति जागरूक करना चाहिए और उन्हें पानी बचाने के लिए कहना चाहिए। हमें नलों को बहते हुए नहीं छोड़ना चाहिए और नहाने के लिए फव्वारे की बजाय बाल्टी का प्रयोग करना चाहिए। हमें वर्षा जल संचयन की प्रक्रिया को अपनाना चाहिए। इस प्रक्रिया के अंतर्गत हम वर्षा के चल कौ एकत्रित करते हैं और उस जल को साफ सफाई और सिंचाई आदि को लिए प्रयोग करते है। पानी का दुषित होना भी पानी की कमी का कारण है और उद्योग पानी को दुषित करने में अहम भूमिका निभाते है। इसलिए उद्योगों को नदियों और नहरों से दुर लगाना चाहिए। पशुओं को भी नहरों में नही नहलाना चाहिए और न ही आस्था और भक्ति के नाम पर नदियों में राख को बहाना चाहिए। हम बिजली का सीमित प्रयोग करके भी पानी को बता सकते हैं क्योंकि बिजली की उत्पति पानी से ही होती है। हमारा कल हमारे जल सरंक्षण पर निर्भर है।

हमारे पानी को सरंक्षित करने के लिए उठाए गए छोटे छोटे कदम हमारे भविष्य के लिए बहुत ही लाभदायक है। जल सरंक्षण हमें पृथ्वी पर जीवन बनाए रखने में सहायक होगा। जल का सीमित मात्रा में प्रयोग करके भी जल को सरंक्षित किया जा सकता है। मैं निवेदन करता हूँ और साथ ही आप सभी से उम्मीद भी करता हूँ कि आप कभी भी पानी को व्यर्थ नहीं बहाऐंगे और हमेशा उसे सरंक्षित करने का प्रयास करेंगे।

धन्यवाद।

# Save Water Speech in Hindi

स्वच्छ भारत अभियान पर भाषण- Speech on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi

प्रदूषण पर भाषण- Speech on Pollution in Hindi

महिला सशक्तिकरण पर भाषण- Speech on Women Empowerment in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Speech on Save Water in Hindi Language ( Article ) आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *