बाल मजदूरी (बाल श्रम) पर भाषण- Speech on Child Labour in Hindi

In this article, we are providing information about Child Labour in Hindi. Speech on Child Labour in Hindi Language- बाल मजदूरी (बाल श्रम) पर भाषण, स्पीच

बाल मजदूरी (बाल श्रम) पर भाषण- Speech on Child Labour in Hindi

माननीय अतिथि महोदय, आदरणीय प्रधानाचार्य जी, समस्त अध्यापक गण एवं मेरे प्यारे सहपाठियों को नमस्कार। मेरा नाम कुनाल है और मैं कक्षा ग्यारवहीं का छात्र हूँ। जैसा कि आप सब जानते है कि हम सब यहाँ बाल दिवस बनाने के लिए एकत्रित हुए है जो कि बच्चों का दिन है और इसी दिन पर मैं बच्चों से जुड़ी सबसे गंभीर समस्या बाल मजदुरी के विषय पर भाषण देना चाहता हूँ।

हर व्यक्ति के जीवन का सबसे अच्छा हिस्सा उसका बचपन होता है लेकिन कुछ बच्चों से उनका बचपन ही छीन लिया जाता है। उन्हें काम के बोझ के नीचे दबा दिया जाता है। पढ़ने लिखने की उमर में उन्हें काम करना पढ़ता है। बाल मजदुरी भारत में सबसे बड़ी समस्या है जिसके अंतर्गत 14 वर्ष से कम उमर के बच्चे घरों, दुकानों, डाबो, कारखानों आदि में कार्यों करते है जो कि बहुत ही शर्म की बात है। बाल मजदुरी की वजह से बहुत से बच्चों को शारीरिक और मानसिक यातनाओं का सामना करना पढ़ता है। बाल मजदुरी ने उनसे उनकी मासुमियत और उनकी हँसी छीन ली है। क्या उन बच्चों को हक नहीं मुस्कुराने का? क्या उन्हें हक नहीं पढ़ने का और बड़े सपने देखने का?

बाल मजदुरी एक ऐसी समस्या है जिसने देश के भविष्य को पूरी तरह से झकझोर कर रख दिया है। छोटे छोटे बच्चे कारखानों में काम करते है जहाँ देखने के लिए न तो पर्याप्त रोशनी है और न ही श्वास लेने के लिए शुद्ध वायु है। मुलभूत आवश्यकताओं की कमी में बच्चों का स्वास्थय बिगड़ता है और वह बहुत से रोगों से ग्रस्त हो जाते है। कुछ बच्चों की तो कम उमर में मौत भी हो जाती है। उनसे कम वेतन पर ज्यादा काम करवाया जाता है और गलती होने पर उन्हें पीटा भी जाता है।

ये उन बच्चों के अधिकारों का हनन है जो बाल मजदुरी करते हैं। कुछ बच्चे मजबुरी में काम करते हैं तो कुछ के रिश्तेदार उन्हें छोटी उमर में काम करने के लिए बाध्य करते है।

सरकार को बाल दिवस के दिन बाल मजदुरी को भी पूरी तरह खत्म करने के प्रयास करने चाहिए और बाल मजदुरी में फँसे बच्चों की सहायता करनी चाहिए। बच्चों की सहायता के लिए संघ बनाए जाने चाहिए और बाल मजदुरी के खिलाफ सख्त से सख्त कानुनों का निर्माण किया जाना चाहिए और बाल मजदुरी करवाने वालों को सजा दी जानी चाहिए।

हम जैसे बच्चे जो शिक्षा प्राप्त करने में सक्षम है उन्हें भी बाल मजदुरी से पीड़ित बच्चों की सहायता करनी चाहिए। बच्चे नुक्कड़ नाटक आदि करके लोगों को बाल मजदुरी के प्रति जागरूक कर सकते है। हम अपनी पुस्तकें, कपड़े और भोजन आदि देकर भी उनकी सहायता कर सकते है और उनका जीवन बेहतर बना सकते है। सब की भागीदारी और सख्त कानुन से ही बाल मजदुरी को खत्म किया जा सकता है और हर बच्चे को उसका बचपन अच्छे से बिताने का मैका दिया जा सकता है।

आशा करता हूँ कि आप सभी भी बाल मजदुरी को रोकने का हर संभव प्रयास करेंगे और गरीब बच्चों की सहायता करेंगे।

धन्यवाद।

# Child Labour Speech in Hindi # hindi speech on child labour

स्वच्छ भारत अभियान पर भाषण- Speech on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi

महिला सशक्तिकरण पर भाषण- Speech on Women Empowerment in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Speech on Child Labour in Hindi ( Article ) आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *